Kanwar Yatra 2021 : उत्तराखंड सरकार ने रद्द की कांवड़ यात्रा

Kanwar Yatra 2021  नई दिल्ली। कई दिन की जद्दोजहद के बाद आखिरकार उत्तराखंड सरकार ने सावन के महीने में होने वाली कांवड़ यात्रा रद्द कर दी। कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए लगातार दूसरे साल कांवड़ यात्रा रोकी गई है। बताया जा रहा है कि राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कांवड़ यात्रा के संबंध में सचिवालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें यात्रा रद्द करने का फैसला किया गया। मुख्यमंत्री की बैठक में कोविड के डेल्टा प्लस वैरिएंट, कोविड की तीसरी लहर की आशंका और देश-विदेश में इसके बढ़ते मामलों पर विचार-विमर्श किया गया। विशेषज्ञों की राय भी ली गई थी, जिस पर बैठक में विचार किया गया। इसके बाद Kanwar Yatra 2021 रद्द करने का फैसला किया गया। इससे पहले रविवार को ही मुख्यमंत्री धामी ने इसके संकेत दे दिए थे। उन्होंने कहा था कि कांवड़ यात्रा श्रद्धा का विषय है और भगवान भी नहीं चाहेंगे कि लोग मरें। यह भी पढ़ें: क्या कुंभ की तरह कावड़ यात्रा बन सकती है तीसरी लहर का कारण, IMA ने सीएम धामी से कावड़ यात्रा टालने की मांग की.. कांवड़ यात्रा रद्द करने के फैसले के बाद मुख्यमंत्री ने गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक को जरूरी कार्रवाई… Continue reading Kanwar Yatra 2021 : उत्तराखंड सरकार ने रद्द की कांवड़ यात्रा

क्या कुंभ की तरह कावड़ यात्रा बन सकती है तीसरी लहर का कारण, IMA ने सीएम धामी से कावड़ यात्रा टालने की मांग की..

देश में कोरोना के मामले भले ही कम हो रहे है लेकिन खत्म नहीं। ऐसे में कोई भी लापरवाही सभी के लिए एक बड़ा खतरा बन सकता है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने फिलहाल कावड़ यात्रा पर रोक लगा रखी है जो अगले आदेश तक बंद ही रहेगी। कावड़ यात्रा को लेकर अभी भी असंजस बना हुआ है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कांवड़ यात्रा को परमिशन देने पर विचार करने की बात कही है। इसी को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी को एक पत्र लिखा है और उसमें कावड़ यात्रा को टालने की मांग की है। ( IMA appeals to uk CM ) आईएमए की उत्तराखंड कमेटी ने कहा है कि यदि कावड़ यात्रा को मंजूरी दी गई तो कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। आईएमए उत्तराखंड के सचिव अजय खन्ना की ओर से लिए गए पत्र में कहा गया है कि हमारी आपसे अपील है कि कांवड़ यात्रा को मंजूरी न दें। देश के तमाम एक्सपर्ट्स ने कहा है कि जुलाई और अगस्त के दौरान कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। कावड़ यात्रा सावन के पवित्र महीने से शुरु होती है जिसमें सभी शिव भक्त गंगाजल भरकर लाते है और… Continue reading क्या कुंभ की तरह कावड़ यात्रा बन सकती है तीसरी लहर का कारण, IMA ने सीएम धामी से कावड़ यात्रा टालने की मांग की..

Uttarakhand : कोरोना काल के बाद खोला गया धरती का पहला शिव मंदिर, कारोबारियों के चेहरे पर आई राहत की सांस

अल्मोड़ा |  पिछले वर्ष 2020 से देशभर के सभी मंदिर बंद है। गत लर्ष से लॉकडाउन का दौर ज़ारी है। कुछ समय के लिए मंदिर और सभी पयर्टन स्थल खोले भी गए थे लेकिन कोरोना फिर अपना भयावह रूप लेकर आया और सभी दर्शनीय स्थल बंद करने पड़े। लेकिन अब कोरोना की दूसरी लहर कम हो रही है। और उत्तराखंड में सभी मंदिर धीरे-धीरे खुल रहे है। हाल ही में महादेव का प्रसिद्ध मंदिर जागेश्वर धाम ( Uttarakhand Almoda Jageshwar Dham ) भक्तों और पुजारियों के लिए खोल दिया गया है। जागेश्वर धाम विश्व प्रसिद्ध है और यहां हर वर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ता है। कुछ समय पहले जब लॉकडाउन में रियायत मिली तो यात्रा आदि से जुड़े प्रतिबंधों और गाइडलाइनों के चलते श्रद्धालुओं की संख्या काफी कम ही दिखाई दी। कोरोना के बुरे माहौल के बाद अब सभी जगह खुशियां लौटने लगी है। इस मंदिर में कुछ पाबंदिया अभी भी लगी है। कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए भक्तों को मंदिर में जाने की अनुमति मिलेगी। मंदिर के खुलते ही भक्तों और पुजारियों द्वारा कोरोना की भयावह महामारी से निजात दिलाने की प्रार्थना की गई। also read: Char Dham Yatra Start : इस तारीख से श्रद्धालुओं… Continue reading Uttarakhand : कोरोना काल के बाद खोला गया धरती का पहला शिव मंदिर, कारोबारियों के चेहरे पर आई राहत की सांस

अक्षरा सिंह ने पेश किया कांवड़ गीत ‘कैलाशी’

सावन की दूसरी सोमवरी को भोजपुरी अभिनेत्री व गायिका अक्षरा सिंह ने शिव भक्तों को एक विशेष तोहफा दिया। अक्षरा ने इस सावन पहला कांवड़ गीत ‘कैलाशी’

योगी ने सावन के पहले सोमवार को किया रूद्राभिषेक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखनाथ मंदिर में रुद्राभिषेक किया। इस दौरान उन्होंने देवाधिदेव भगवान शिव से कोरोना वायरस

और लोड करें