अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए रिजर्व बैंक तैयार: दास

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए केन्द्रीय बैंक के तैयार रहने का हवाला देते हुये आज कहा कि भारत में अपार संभावनायें है

आरबीआई गवर्नर ने दिये ब्याज दरों में और कमी किये जाने के संकेत

रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने ब्याज दरों में आगे और कटौती किये जाने के संकेत देते हुए आज कहा कि कोरोना वायरस महामारी से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए किए गए उपायों को जल्दबाजी में नहीं हटाया जाएगा।

बदलती परिस्थितियां भारतीय अर्थव्यवस्था के पक्ष में : दास

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने देश में हुए पांच बड़े बदलावों को उल्लेखित करते हुये आज कहा कि इन बदलावों को ‘संरचानत्मक परिवर्तन’ में बदले जाने की जरूरत है

आरबीआई गवर्नर ने साख निर्धारक एजेंसियों के साथ की बैठक

रिजर्व बैंक (आरबीआई) गवर्नर शक्तिकांता दास ने आज साख निर्धारक एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों के साथ अर्थव्यवस्था की स्थिति और परिदृश्य पर चर्चा की। दास ने इन एजेंसियों

आरबीआई ने नए राहत उपाय

भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को कोविड-19 संकट के प्रभाव को कम करने के लिए ब्याज दरों में कटौती, कर्ज अदायगी पर ऋण स्थगन को बढ़ाने और कॉरपोरेट को अधिक कर्ज देने के लिए बैंकों को इजाजत देने का फैसला किया।

भारतीय बैंकिंग सिस्टम सुरक्षित और मजबूत : दास

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांता दास ने कोरोना वायरस के वैश्विक स्तर पर बढ़ते संक्रमण से अर्थव्यवस्था में मंदी आने के बीच भारतीय बैंकिंग सिस्टम को सुरक्षित और मजबूत बताते हुये शुक्रवार को कहा कि सभी जमाकर्ताओं की राशि सभी बैंकों में पूरी तरह सुरक्षित हैं

वाणिज्यिक बैंक घटा सकते हैं ब्याज दर

रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांता दास ने आज कहा कि केंद्रीय बैंक द्वारा पिछले साल नीतिगत ब्याज दरों में की गयी कटौती का ज्यादा लाभ बैंक धीरे-धीरे ग्राहकों को दे रहे हैं

मौद्रिक नीति से नहीं, सुधार से होगा काम

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक, आरबीआई के गवर्नर ने कहा है कि देश में आर्थिक मंदी में सुधार सिर्फ मौद्रिक नीति से नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा है कि मौद्रिक नीति की कुछ सीमाएं होती हैं, इसलिए विकास बढ़ाने के लिए ढांचागत सुधारों और वित्तीय उपायों की भी जरूरत है। आम बजट आने से ठीक पहले आरबीआई के गवर्नर का यह बयान बहुत अहम माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस बार बजट में कुछ ढांचागत सुधार हो सकता है। शक्तिकांत दास का कहना है कि फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज, टूरिज्म, ई-कॉमर्स, स्टार्टअप्स और ग्लोबल सप्लाई चेन का हिस्सा बनने के प्रयासों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। शक्तिकांत दास का यह बयान जीडीपी बढ़ोतरी की दर में गिरावट और आने वाले बजट के लिहाज से अहम माना जा रहा है। गौरतलब है कि सितंबर तिमाही में विकास सिर्फ साढ़े चार फीसदी रह गई, यह छह साल में सबसे कम है। आरबीआई गवर्नर का कहना है कि केंद्र सरकार बुनियादी खर्च पर ध्यान दे रही है, इससे अर्थव्यवस्था में विकास की गति बढ़ेगी। लेकिन, राज्यों को भी खर्च बढ़ा कर विकास में योगदान देना चाहिए, इससे कई गुना ज्यादा असर होगा। दास ने कहा कि देश की संभावित विकास… Continue reading मौद्रिक नीति से नहीं, सुधार से होगा काम

और लोड करें