सीएए के नियम क्यों नहीं बना रही सरकार?

संशोधित नागरिकता कानून यानी सीएए संसद से पास होकर राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद कानून बन चुका है। लेकिन अभी तक केंद्र सरकार ने इस कानून के नियम नहीं अधिसूचित किए हैं इसलिए यह कानून लागू नहीं हो रहा है। इस कानून के तहत केंद्र सरकार ने यह प्रावधान किया है कि तीन पड़ोसी देशों-… Continue reading सीएए के नियम क्यों नहीं बना रही सरकार?

मलेरकोटलाः एक बेमिसाल मिसाल

पंजाब के मलेरकोटला कस्बे के बारे में ज्ञानी जैलसिंहजी मुझे बताया करते थे कि अब से लगभग 300 साल पहले जब गुरु गोविंदसिंह के दोनों बेटों को दीवार में जिंदा चिनवाया जा रहा था, तब मलेरकोटला के नवाब शेर मोहम्मद खान ने उसका डटकर विरोध किया था और भरे दरबार में उठकर उन्होंने कहा था… Continue reading मलेरकोटलाः एक बेमिसाल मिसाल

सिख, हिन्दू और नानक-धर्म

कुछ पहले श्रीअकाल तख्त के जत्थेदार ने कहा था कि बिना इजाजत कोई सिख संगठन नहीं बना सकता। उन्होंने स्पष्ट नहीं किया कि यह मनाही कैसे संगठन के लिए है – राजनीतिक या आध्यात्मिक? अभी सौ साल पहले तक सिखों को हिन्दुओं से भी अलग नहीं समझा जाता था।

पटियाला में पंजाबियों के बीच पुरानी यादों में खो गए राहुल

राहुल गांधी ने अपने बचपन की यादों को ताजा करते हुए कि बताया कि कैसे मुट्ठीभर सिखों ने उनके परिवार की रक्षा की थी, जब 1977 में उनकी दादी इंदिरा गांधी संसदीय चुनाव हार गई थीं।

सरदार परमजीत, वाह

वाह! इसे संयोग ही कहे या कुछ औरजो सिखों, पंजाब व अकाली दल से मेरा शुरु से ही बहुत जुड़ाव रहा है। जब पंजाब में आतंकवाद अपने चरम पर था तब उसे लगातार कवर किया। दुर्दांत आतंकवादियों से अपने संबंध रहे।