सामयिक और प्रासंगिक चेतावनी

आज जो माहौल है, उसमें जस्टिस चंद्रचूड़ की टिप्पणियों का बहुचर्चित हो जाना असामान्य नहीं है। मगर जस्टिस चंद्रचूड़ ने ऐसा कुछ नहीं कहा, जो असामान्य हो। इसीलिए कई हलकों से सवाल उठाया गया कि सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसलों में जस्टिस चंद्रचूड़ के ये विचार और उनकी भावनाएं क्यों जाहिर नहीं हुई हैं? सुप्रीम… Continue reading सामयिक और प्रासंगिक चेतावनी

हिंदू कौन है ?

सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश डी. वाय. चंद्रचूड़ ने गुजरात राष्ट्रीय विवि विध्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को चुना अपनी बात कहने के लिए। देश का नेतृत्व आज गुजराती भाइयों के हाथ में हैं। उनका नाम लिए बिना चंद्रचूड़ ने उन्हें ही संबोधित किया है। उन्होंने कहा कि भारत विविधताओं का देश है। यदि इसमें एक भाषा,… Continue reading हिंदू कौन है ?