उप्र में ‘सांड की आंख’ कर मुक्त घोषित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने आगामी बॉलीवुड फिल्म ‘सांड की आंख’ को कर मुक्त घोषित कर दिया है। तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर द्वारा अभिनीत यह फिल्म भारत की दो सबसे वयस्क शार्पशूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की जिंदगी पर आधारित है। महिला सशक्तीकरण और खेल प्रोत्साहन पर आधारित इस फिल्म को पहले से ही राजस्थान में कर मुक्त कर दिया गया है और अब यूपी सरकार ने इसे टैक्स फ्री करने की घोषणा की है। तुषार हीरानंदानी द्वारा निर्देशित यह फिल्म 25 अक्टूबर को रिलीज हो रही है। फिल्म में इन दोनों अभिनेत्रियों के अलावा प्रकाश झा और विनीत सिंह भी मुख्य भूमिकाओं में हैं। इसे भी पढ़ें : ‘सांड की आंख’ कमर्शियल फिल्म: भूमि पेडनेकर

राजस्थान में कर मुक्त हुई ‘सांड की आंख’

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने  राज्य में सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स में ‘सांड की आंख’ फिल्म के प्रदर्शन पर लगने वाले राज्य माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से छूट देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। दो वृद्ध महिलाओं के जीवन पर बनी यह फिल्म असल जिंदगी की कहानी से प्रेरित है। फिल्म में उत्तर प्रदेश के ग्राम जोहरी की चंद्रो तोमर (86) और प्रकाश तोमर (81) की कहानी को दर्शाया गया है, जिन्होंने निशानेबाजी की कला सीखने के लिए कड़ी मेहनत की और इस खेल में कई मेडल हासिल किए। फिल्म में यह सब दिखाने के साथ-साथ यह भी दिखाया गया है कि कैसे वे इसके बाद गांव की लड़कियों को इस खेल में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती हैं। ‘सांड की आंख’ महिला सशक्तिकरण और सामाजिक मानसिकता में बदलाव को दिखाती है। इसमें तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म 25 अक्टूबर को रिलीज होगी। इसके निर्देशक तुषार हीरानंदानी और निर्माता अनुराग कश्यप हैं।

और लोड करें