Rajasthan : गहलोत सरकार ने दिया शिक्षकों को बड़ा तोहफा, 50 साल बाद बदला शिक्षा विभाग का ढांचा , जानें इसके फायदे

जयपुर |  कोरोना काल के बाद राजस्थान की गहलोत सरकार ने एक बड़ा बदलाव किया है। गहलोत कैबिनेट ने उच्च शिक्षा के स्तर में बदलाव लाने और उसे बेहतर बनाने के लिए पुराने ढ़ांचे में बदलाव किया है। इसके नियमों में भी परिवर्तन किया है।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में राजस्थान शैक्षिक राज्य और अधीनस्थ सेवा नियम 2021 को मंजूरी दी गई। ( Gehlot government made a big change )  इसके साथ ही 50 साल बाद शिक्षा विभाग के नियमों में बदलाव किया गया है। गहलोत सरकार द्वारा किए गए नियमों के बदलाव के बाद हजारों शिक्षकों को अलग-अलग तरह की बड़ी राहत मिली हैं। शिक्षक इस परिवर्तन की लंबे समय से मांग करते आ रहे थे। पिछले कई सालों से प्रक्रियाधीन शिक्षा सेवा नियमों को बुधवार को कैबिनेट की बैठक में स्वीकृत कर दिया गया है। इस स्वीकृति के साथ ही शिक्षा विभाग के नियम 50 साल  बाद बदल गए हैं। 50 साल बाद राजस्थान के शिक्षा विभाग में बदलाव किया गया है। 50 साल बाद शिक्षा विभाग के पुराने ढ़ांचे में बदलाव कर शिक्षकों को राहत दी गई है।   also read: Union Cabinet Expansion 2021: मोदी ने बनाया चुनावी केबिनेट, यूपी से सात… Continue reading Rajasthan : गहलोत सरकार ने दिया शिक्षकों को बड़ा तोहफा, 50 साल बाद बदला शिक्षा विभाग का ढांचा , जानें इसके फायदे

CM योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, प्रदेश की महिलाओं के लिए उठाया ये बड़ा कदम 

लखनऊ |  उत्तर प्रदेश में 1 जून से मेगा वैक्सीनेशन की शुरुआत होने जा रही है. इस वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत के पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य की महिलाओं को एक और तोहफा दिया है. योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान में महिलाओं के टीकाकरण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस टीकाकरण अभियान में महिलाओं के लिए अलग से वैक्सीनेशन सेंटर्स बूथ बनाए जाएंगे. बता दें कि इसके पहले योगी आदित्यनाथ 15 जून से रेडी लगाकर दुकानें चलाने वाले गरीब दुकानदारों के लिए अलग से बूथ बढ़ाने का ऐलान कर चुके हैं. वैक्सीनेशन में तेजी लाने का है प्रयास उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को तेज करने के लिए लगातार बड़े फैसले ले रहे हैं. महिलाओं और रेडी दुकानदारों के अलावा योगी आदित्यनाथ ने शिक्षकों, पत्रकारों, न्यायिक कर्मचारियों, वकीलों और अभिभावकों के लिए स्पेशल बूथ बनाने की योजना तैयार की है. इनमें से अभिभावक स्पेशल बूथ की शुरुआत भी कर दी गई है. बता दें कि यहां ऐसे अभिभावकों को टीका लगाया जा रहा है जिनके बच्चों की उम्र 12 वर्ष से कम है. इसे भी पढ़ें-  5G Controversy दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज… Continue reading CM योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, प्रदेश की महिलाओं के लिए उठाया ये बड़ा कदम 

SC ने CBSE को 12वीं के परिणामों के वैकल्पिक मूल्यांकन मानदंड तैयार करने कि लिए दिया 2 सप्ताह का समय

नई दिल्ली |  CBSE 12वीं की परीक्षा को रद्द करने का फैसला कल आ गया था. सुप्रीम कोर्ट में परीक्षा रद्द करने की मांग पर चल रही सुनवाई को अब दो हफ्तों के लिए स्थगित कर दिया गया है. कोर्ट ने CBSE परीक्षा नहीं लिए जाने की स्थिति में वैकल्पिक मूल्यांकन मानदंड तैयार करने के लिए कहा है. इसे तैयार करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड को 2 सप्ताह का समय दिया है. इस अंतराल के बाद बोर्ड को यह बताना होगा कि वह छात्रों का रिजल्ट किस प्रकार तैयार करने वाले हैं. कोर्ट ने कहा है कि यह समय इसलिए दिया जा रहा है क्योंकि बोर्ड को सभी विकल्पों पर विचार करना होगा क्योंकि यह बच्चों के भविष्य का मामला है. मूल्यांकन के मानदंड पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई रुचि न्यायमूर्ति एएम खानविलकर की अध्यक्षता में cbse से कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट या जानना चाहता है कि बिना परीक्षा परिणामों को घोषणा करने की सीबीएसई के पास क्या योजना है. बता दें कि अधिवक्ता अनूप श्रीवास्तव द्वारा सुप्रीम कोर्ट में आज एक और याचिका दायर की गई है कि सॉन्ग कहा गया है कि देश के सभी 26 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों में होने वाली… Continue reading SC ने CBSE को 12वीं के परिणामों के वैकल्पिक मूल्यांकन मानदंड तैयार करने कि लिए दिया 2 सप्ताह का समय

परीक्षा टालने का फैसला पहले क्यों नहीं हुआ?

यह गजब बात है कि देश में फरवरी के आखिरी हफ्ते में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने लगा था और मार्च का मध्य आते आते महामारी की दूसरी लहर के पूरे देश में फैलने की पुष्टि हो गई थी। फिर भी केंद्रीय माध्यमिक बोर्ड यानी सीबीएसई की परीक्षाएं टालने का फैसला अप्रैल के मध्य में आकर किया गया। सवाल है कि जब मार्च में साफ दिखने लगा था कि महामारी फैल रही है तो उसी समय परीक्षा के बारे में फैसला क्यों नहीं किया गया? प्रधानमंत्री, केंद्रीय शिक्षा मंत्री और सीबीएसई के अधिकारी किस बात का इंतजार कर रहे थे? क्या किसी को इस बारे में विचार करने की फुरसत नहीं थी? सोचें, चार मई से बोर्ड की परीक्षा शुरू होनी है तो 14 अप्रैल को इस बारे में फैसला किया गया, जबकि कोरोना की महामारी पूरे मार्च देश भर में फैलती रही! अब जब 14 अप्रैल को फैसला हुआ तो कहा गया कि इतना समय नहीं बचा है कि चार मई से 12वीं की परीक्षा ऑनलाइन कराई जा सके। इसलिए एक जून को विचार किया जाएगा कि किस तरह से परीक्षा हो और छात्रों को 15 दिन का समय दिया जाएगा। क्या जो तैयारी बोर्ड के अधिकारी अगले डेढ़… Continue reading परीक्षा टालने का फैसला पहले क्यों नहीं हुआ?

CBSE Exam 2021:  नहीं होंगी 10वीं की परीक्षा, 12 वीं के लिए 1 जून को  होगा निर्णय

New Delhi: CBSE बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने को लेकर काफी दिन से विवाद हो रहा था. स्टूडेंट के साथ ही अभिभावक भी लगातार परीक्षाओं को रद्द करने की मांग कर रहे थे. इसी बीच एक बड़ी खबर आई है कि CBSE बोर्ड की सेकेंड्री (10वीं) की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है. इसके साथ ही सीनियर सेकेंड्री (12वीं) की परीक्षाओं को फिलहाल कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए स्थगित कर दिया गया है.  ये फैसला प्रधानमंत्री मोदी , केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’, शिक्षा सचिव और CBSE बोर्ड के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया है.  बता दें कि कोविड-19 महामारी के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच देश भर के स्टूडेंट्स पैरेट्स और टीचर्स के साथ- साथ विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री, कई नेताओं और जन-प्रतिनिधियों द्वारा CBSE बोर्ड की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित या रद्द किये जाने की मांग की जा रही थी. परीक्षाओं को रद्द करने की लगातार उठ रही थी मांग बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए देशभर से CBSE की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग देशभर से उछ रही थी. लगभग सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी कहा था कि इन परिस्थितियों मे परीक्षाओं का… Continue reading CBSE Exam 2021:  नहीं होंगी 10वीं की परीक्षा, 12 वीं के लिए 1 जून को होगा निर्णय

राजस्थान : PT  शिक्षकों की भर्ती ना निकालने पर युवा बेरोजगारों का सरकार के खिलाफ प्रर्दशन

कोरोना ने अपनी काली छाया लोगो की रोजी-रोटी पर भी डाली है. मार्च 2020 में भारत सरकार ने कोरोना पर नियंत्रण पाने के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया था. कोरोना महामारी के कारण निजी और सरकारी दोनों क्षेत्र ही प्रभावित हुए हैं. युवा सरकारी नौकरी पाने के लिए मेहनत कर रहे हैं. राजस्थान में युवाओं का हाल कुछ ऐसा ही है. युवा सरकारी बहाली के लिए लगातार प्रयासरत हैं. भर्ती ना निकालने के कारण अब युवाओं का गुस्सा फुट रहा है. आज भी कुछ बेरोजगार युवाओं ने सड़कों पर प्रर्दशन किया. शारीरिक शिक्षक अनुदेशक ग्रेड प्रथम, द्वितीय,और तृतीय के रिक्त पदों पर भर्ती निकलवाने की मांग लगातार तेज हो रही है. इसी मांग को लेकर सोमवार को राजधानी जयपुर में बड़ी संख्या में बेरोजगार जुटे.  ज्ञात हो कि शारीरिक ग्रेड द्वितीय की भर्ती साल 2013 के बाद से नहीं निकाली गई है. इसके कारण ही स्कूलों में लगातार शारीरिक शिक्षकों के पद रिक्त होते जा रहे हैं. इसे भी पढ़ें राजस्थान: बीच सड़क पर महिला को हाॅकी व लातों से पटक-पटक कर पीटा, वीडियो वायरल सिर्फ शारीरिक शिक्षकों के पदों पर नहीं निकाली भर्ती BPED धारी बेरोजगारों ने सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द शारीरिक शिक्षकों के पदों… Continue reading राजस्थान : PT शिक्षकों की भर्ती ना निकालने पर युवा बेरोजगारों का सरकार के खिलाफ प्रर्दशन

उप्र में 11 विधान परिषद सीटों के लिए मतदान जारी

उत्तर प्रदेश के 72 जिलों में 11 विधान परिषद सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हो रहा है। शिक्षक और स्नातक पांच स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से और छह शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से इन सीटों के लिए उम्मीदवारों का चयन करेंगे।

विधान-परिषद चुनाव में भाजपा के साख की परीक्षा

उत्तर प्रदेश विधान परिषद की शिक्षक एवं स्नातक क्षेत्र की 11 सीटों के लिए 1 दिसम्बर को मतदान होना है। इस चुनाव में भाजपा पूरी ताकत के साथ मैदान में है।

मोदी ने जताया शिक्षकों के प्रति आभार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शिक्षक दिवस पर अध्यापकों के योगदान को स्मरण कर उन्हें राष्ट्र के निर्माण की नींव तैयार करने वाला बताया और उनके प्रति आभार व्यक्त किया।

4 हजार अध्यापकों ने सीखे ऑनलाइन पढ़ाई के तौर तरीके

सीबीएसई ने अध्यापकों के प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू किया है। ऑनलाइन ट्रेनिंग सत्र 1 घंटे के का होगा। इस कोर्स को पूरा करने वाले सभी अध्यापकों को ऑनलाइन ही ई

केजरीवाल ने मुआवजे का दायरा बढ़ाया

कोरोना वायरस से लड़ाई में मददगार पुलिसकर्मियों, अध्यापकों, प्रधानाचार्य, सिविल डिफेंस कर्मियों आदि की यदि कोरोना वायरस के कारण मौत हो जाती है, तो दिल्ली सरकार ऐसे कर्मचारियों के परिजनों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देगी।

ऑन लाइन अध्यापन के लिये प्रोजेक्ट ‘स्माईल’ शुरु

राजस्थान में लाॅकडाउन के अवधि में राज्य के विद्यार्थियों और शिक्षकों को ऑनलाईन पठन-पाठन से जोड़े जाने के लिए प्रोजेक्ट सोशल मीडिया इंटरफेस फॉर लर्निंग एंगेजमेंट (स्माईल) की शुरूआत की गयी है।

शिक्षक ने बच्चों को दी तालिबानी सजा

उत्तर प्रदेश में ललितपुर जिले के एक प्राथमिक विद्यालय में होमवर्क पूरा न करने पर शिक्षक द्वारा चार बच्चों को कथित रूप से 40-40 डंडे मारने की तालिबानी सजा दिए जाने का मामला सामने आया है।

शपथग्रहण: शिक्षकों के निमंत्रण पर भाजपा का बयान

आम आदमी पार्टी(आप) ने आज कहा कि दिल्ली शिक्षा निदेशालय(डिओई) ने रामलीला मैदान में कल होने वाले अरविंद केजरीवाल और उनकी कैबिनेट के शपथग्रहण समारोह में स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को निमंत्रण दिया है।

जेएनयू हिंसा: छात्रों, शिक्षकों के साथ पुलिस ने की बैठक

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) एमएस रंधावा ने छात्रों और शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की।

और लोड करें