दोमुंहे अमेरिका से सावधान रहे भारत!

हाल में हुए एक घटनाक्रम ने अमेरिका के वास्तविक चेहरे को पुन: रेखांकित कर दिया। पिछले कुछ वर्षों से जिस तरह भारत-अमेरिका के बीच संबंध प्रगाढ़ हो रहे है, उसमें 7 अप्रैल की एक घटना ने न केवल दोनों देशों के राजनयिक संबंधों में अड़ंगा डालने का काम किया है, अपितु अमेरिका ने भारत और… Continue reading दोमुंहे अमेरिका से सावधान रहे भारत!

विदेश नीतिः मौलिक पहल जरुरी

अन्तरराष्ट्रीय राजनीति का खेल कितना मजेदार है, इसका पता हमें चीन और अमेरिका के ताजा रवैयों से पता चल रहा है। चीन हमसे कह रहा है कि हम अमेरिका से सावधान रहें और अमेरिका हमसे कह रहा है कि हम चीन पर जरा भी भरोसा न करें। लेकिन मेरा सोचना है कि भारत को चाहिए… Continue reading विदेश नीतिः मौलिक पहल जरुरी

पंचतंत्र का चमगादड़ और मोदी सरकार

पंचतंत्र की एक कथा के मुताबिक चमगादड़ ने ज्यादा होशियारी दिखाते हुए जानवरों के समूह में खुद को जानवर बताया और पक्षियों के समूह में खुद को पक्षी साबित किया। फिर जब जानवरों और पक्षियों के बीच संघर्ष हुआ तो चमगादड़ कभी इधर जाए तो कभी उधर जाए। इसका नतीजा यह हुआ है कि वह… Continue reading पंचतंत्र का चमगादड़ और मोदी सरकार

भारत पर अमेरिकी दादागीरी

भारत और अमेरिका के बीच आजकल जैसा मधुर माहौल बना हुआ है, उसमें अचानक एक कड़ुआ प्रसंग आन पड़ा है। हुआ यह है कि अमेरिकी नौसेना का सातवां बेड़ा हमारे ‘सामुद्रिक अनन्य आर्थिक क्षेत्र’ में घुस आया है और सरकार ने इस सीमा-उल्लंघन पर अमेरिकी सरकार से शिकायत की है। लेकिन अमेरिका ने दो-टूक शब्दों… Continue reading भारत पर अमेरिकी दादागीरी