Planning an International Trip : कोरोना प्रतिबंध के बाद भी 10 देशों ने अपने द्वार भारतीय यात्रियों के लिए खोल रखे हैं, जानें इन देश के बारे में..

जब भारतीय यात्रियों को अपने देश में प्रवेश करने की अनुमति देने की बात आती है तो अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध भी कम कठोर होते जा रहे हैं।

अब बिना किसी परेशानी के घर बैठे अपने वॉट्सऐप पर करें कोरोना वैक्सीन का स्लॉट बुक, जानें पूरी प्रक्रिया..

वॉट्सऐप के स्‍वामित्‍व वाली कंपनी फेसबुक ने स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय के साथ मिलकर लोगों को वैक्‍सीनेशन स्‍लॉट की बुकिंग के लिए यह सुविधा शुरू की है।

मायावती बोलीं एक हो विपक्ष, भाजपा के नेता टीकाकरण अभियान के प्रचार में लगे हुए हैं जबकि केंद्रों में वैक्सीन है ही नहीं

लखनऊ | Uttar Pradesh Election 2022: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहूजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती ने एक बार फिर से केंद्र सरकार पर बड़ा हमला बोला है. मायावती ने कहा है कि केंद्र की सरकार बहुत लापरवाही कर रही है जिसका हरजाना लोगों को भुगतना पड़ रहा है. मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ देश की सभी राजनीतिक पार्टियों को एक होना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि यदि विपक्ष आज एकजुट नहीं होता है तो फिर देश की जनता के साथ ही दूसरी राजनीतिक पार्टियों को भी भविष्य में परेशानी होने वाली है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने एक या दो गलती नहीं की है बल्कि गलतियों की लड़ी लगा दी है. मुझे पूरा भरोसा है कि अब ब्राह्मण समाज के लोग भाजपा के किसी भी तरह के बहकावे में नहीं आएंगे। ब्राह्मण समाज को फिर से जागरूक करने के लिए 23 जुलाई से अयोध्या से एक अभियान शुरू किया जा रहा है: मायावती, बसपा प्रमुख pic.twitter.com/uG2MzHDIOv — ANI_HindiNews (@AHindinews) July 18, 2021 पेट्रोल-डीजल और टीकाकरण सब कुछ समस्या Uttar Pradesh Election 2022:  मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार सिर्फ अपनी ही पीठ थपथपाने का कार्य कर रही है. उन्होंने कहा कि… Continue reading मायावती बोलीं एक हो विपक्ष, भाजपा के नेता टीकाकरण अभियान के प्रचार में लगे हुए हैं जबकि केंद्रों में वैक्सीन है ही नहीं

WHO ने भी की राजस्थान के टीकाकरण अभियान की सराहना, सबसे कम वेस्टेज वाले राज्यों में हुआ शामिल-  डॉ. रघु शर्मा

जयपुर | WHO Praises Vaccination Campaign : वैक्सीनेशन शुरू होने के साथ ही भारत सरकार द्वारा आरोप लगाए गये थे राजस्थान में सबसे ज्यादा वैक्सीन की बर्बादी हो रही है. हालंकि राजस्थान सरकार ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था. अब राज्य की चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य में जारी कोरोना बचाव टीकाकरण अभियान को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी सराहा है. उन्होंने कहा कि WHO की रिपोर्ट के अनुसार राज्य उन अग्रणी राज्यों में शामिल है जहां टीकों की खुराक सबसे कम बर्बाद (वेस्टेज) हुई है. शर्मा ने कहा कि चिकित्सा कर्मियों ने टीकों की प्रत्येक वॉयल में से 10 के अतिरिक्त उपलब्ध खुराक का उपयोग किया, जिससे राज्य में टीकों की आपूर्ति के अनुपात में 1.8 प्रतिशत अधिक टीकाकरण हो सका. राजस्थान में कप्पा वेरिएंट के कुल 11 मामले मिले हैं, ये वेरिएंट डेल्टा और डेल्टा प्लस जितना खतरनाक नहीं है। राजस्थान में कोरोना की स्थिति अब नियंत्रण में है: रघु शर्मा, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री #COVID19 pic.twitter.com/beXAm5Qj1w — ANI_HindiNews (@AHindinews) July 14, 2021 राजस्थान को नहीं मिल रही है सुविधा WHO Praises Vaccination Campaign : स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार… Continue reading WHO ने भी की राजस्थान के टीकाकरण अभियान की सराहना, सबसे कम वेस्टेज वाले राज्यों में हुआ शामिल- डॉ. रघु शर्मा

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा-  मंत्रियों की संख्या बढ़ी वैक्सीन की नहीं

नई दिल्ली | Rahul Gandhi On Vaccine : देशभर में चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में वैक्सीन की कमी को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कटाक्ष करते रहे हैं. आज एक बार फिर से राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में मंत्रियों की संख्या बढ़ी है लेकिन वैक्सीन की नहीं. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में वैक्सीन की कमी पर सवाल उठाते हुए #wherearevaccines का प्रयोग किया. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा कि “मंत्रियों की संख्या बढ़ी है वैक्सीन की नहीं.”बता दें कि कोई पहला मौका नहीं है जब राहुल गांधी ने देश में वैक्सीनेशन की गति और वैक्सीन की कमी पर सवाल उठाए हैं. इससे पहले भी कई बार राहुल गांधी टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार को घेरते हुए नजर आए हैं. स्वास्थ्य मंत्री के बदले जाने पर भी किया था कटाक्ष Rahul Gandhi On Vaccine : इसके पहले पीएम मोदी के मंत्रिमंडल के विस्तार के दौरान स्वास्थ्य मंत्री के बदले जाने पर कि राहुल गांधी ने तंज कसा था. उस समय राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा था कि देश का स्वास्थ्य मंत्री बदल रहा है उसका मतलब है कि वैक्सीन की कमी नहीं… Continue reading राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा- मंत्रियों की संख्या बढ़ी वैक्सीन की नहीं

Vaccination Drive in Ranchi : वैक्सीन लगवाने की इस तस्वीर के देखकर भूल जाएंगे सबकुछ, राज्य के सीएम भी नहीं रोक शेयर करने से

Vaccination Drive in Ranchi : रांची | एक और जहां ग्रामीण इलाकों में कोरोना की वैक्सीन को लेकर लोगों में संशय की स्थिति है. दूसरी ओर कई ऐसे लोग भी हैं जो वैक्सीन लगवा कर लोगों को इसके लिए प्रेरित कर रहे हैं. ऐसा ही एक मामला झारखंड में रहने वाले गुलशन लोहार का सामने आया है. गुलशन की वैक्सीन लगाते ही तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से बादल हो रही है. वायरल तस्वीर के साथ ही गुलशन का एक छोटा सा वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें वह लोगों को वैक्सीन लगवाने की अपील करते हुए दिखाई दे रहे हैं. दरअसल गुलशन दिव्यांग व्यक्ति हैं जिनके दोनों हाथ नहीं है. उन्होंने अपने पैर की जांघ में वैक्सीन की डोज ली है. स्वास्थ्य कर्मियों ने भी की तारीफ जांघ में कोरोना की वैक्सीन लेने वाले गुलशन की तारीफ स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने भी की है. इसके साथ ही तस्वीरों के वायरल होने के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी अपने ट्विटर हैंडल से इस तस्वीर को शेयर किया है. इस तस्वीर को शेयर करते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि आम लोगों को गुलशन से प्रेरणा लेने की जरूरत है. खुद गुलशन भी लगातार लोगों… Continue reading Vaccination Drive in Ranchi : वैक्सीन लगवाने की इस तस्वीर के देखकर भूल जाएंगे सबकुछ, राज्य के सीएम भी नहीं रोक शेयर करने से

Vaccination Drive : संक्रमित हो चुके लोगों के लिए काफी है वैक्सीन की एक डोज- अध्ययन

नई दिल्ली | देश में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर उत्पात मचाया था, यहीं कारण है कि अब केंद्र और राज्य.की सरकारों वैक्सीनेशन की गति को बढ़ाने का हर संभव प्रयास कर रही है. ताजा जानकारी के अनुसार एक अध्ययन में पाया गया है कि कोरोना से उबर चुके लोगों के लिए अब वैक्सीन की एक डोज भी काफी है. हालांकि अभी भी देश मे कोरोना की वैक्सीन के बीच के अंतराल को लेकर लगातार विवाद चल रहा है . जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से एक बार फिर से वैक्सीन के बीच के अंतराल को कम करने की योजना बनाई जा रही है. समाचार एजेंसी इन आई की खबर की मान्यता एशियन इंस्टीट्यूट आफ गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी (AIG) के प्रमुख डॉ नागेश्वर रेड्डी ने कहा है कि जिन्हें पुराना हो चुका है उनके लिए भविष्य की एक दो 12 महीने तक के लिए कामगार है. नई रणनीति भारत सरकार की कम कर सकती है परेशानी अगर अध्ययन को लेकर साक्ष्य प्रस्तुत कर दिए जाते हैं तो इससे भारत सरकार को बड़ी राहत मिलने वाली है. भारत में अभी भी बढ़ाना वैक्सीन की किल्लत के कारण वैक्सीनेशन प्रभावित हो रहा है. ऐसे में इस बात की पुष्टि हो जाती… Continue reading Vaccination Drive : संक्रमित हो चुके लोगों के लिए काफी है वैक्सीन की एक डोज- अध्ययन

Corona Vaccination: क्या सुखद तस्वीर होती भारत की अगर कोरोना टीकाकरण अभियान पल्स पोलियो की तरह चलाया जाता..

Delhi: कोविड टीकाकरण 16 जून 2021 से बड़े जोरोंशोरों के साथ दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के रूप में चला था। फरवरी आते-आते यह रफ्तार फीकी पड़ने लगी और कोरोना मरीजों का संख्या बढ़ने लगी। जब टीकाकरण की बात पहुंची मार्च के महीनें में तो रफ्तार और भी सुस्त पड़ गई। अप्रैल आते-आते टीकाकरण अभियान रेंग कर चलने लगा। क्योंकि देश कोरोना वैक्सीन की भारी कमी होने लगी। जब मई की दहलीज पर थे तो स्वास्थय सेवाओं के साथ टीकाकरण अभियान भी वेंटिलेटर पर पहुंच गया था। उसके साथ ही  कितने नागरिक वेंटिलेटर पर पहुंचे..यह तो छोड़ दीजिए क्योंकि हमें तो शमशान घाट पहुंचने वालों का सही आंकड़ा सहीं आंकड़ा ही नहीं पता तो यह बात करके जिम्मेदारों को शर्मिंदा क्यों करना। अति उत्साह के साथ खुले वैक्सीनेशन सेंटर उतने ही खामोशी से बंद होने लगे और जो थोड़ी बहुत वैक्सीन के स्टॉक के साथ जिंदा थे वहां लगी भीड़ ने सामाजिक दूरियों का मज़ाक बना डाला। also read: देश में Corona से एक ही दिन में 3403 मौतों ने फिर बढ़ाई चिंता, 1 लाख से नीचे रहा नए संक्रमितों का आंकड़ा भारत टीकाकरण के क्षेत्र में नया खिलाड़ी नहीं ऐसा तो नहीं है कि देश में पहली बार टीकाकरण… Continue reading Corona Vaccination: क्या सुखद तस्वीर होती भारत की अगर कोरोना टीकाकरण अभियान पल्स पोलियो की तरह चलाया जाता..

अगर कोविड-19 टीका प्रमाण पत्र में है गलतियां तो घर बैठे करें सही..

delhi: भारत में कोरोना के मामले अग कम होने लगे है तो उसका सबसे बड़ा कारण कोरोना वैक्सीनेशन है। 1 मई से भारत में 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण अभियान शुरु हुआ था। इसके लिए भारत सरकार के कोविन ऐप पर पहले रजिस्ट्रेशन करवाकर स्लॉट बुक करना होता उसके बाद टीकाकरण के लिए नंबर आता है। कोरोना का टीका लगवाने वालों को एक प्रमाण पत्र दिया जा रहा है लेकिन उसमें गलतियां सामने आ रही है। लेकिन आप उन गलतियों को घर बैठे भी सही कर सकते है। कोरोना काल में आपकों कहीं भी ना जाना पड़ो इसलिए सरकार ने यह सुविधा दी है कि आप घर बैठे इस दुविधा को दूर कर सकते हो। कोरोना का टीका लगवाने वाले अपने कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण-पत्र में हुई गलतियों को कोविन पोर्टल पर अब खुद ही ठीक कर सकते हैं। सरकार ने एक नए अपडेट की घोषणा की है जो आवेदक को टीकाकरण प्रमाण-पत्र में मुद्रित नाम, जन्मतिथि और लिंग में अनजाने में हुई गलती को सुधारने की सुविधा देगा। also read: कोरोना काल में यहां शुरू हुआ ‘सोशल डिस्टेंसिंग वाला डांस’, नहीं सुना होगा आपने कोविन की वेबसाइटट पर जाकर सही करें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव… Continue reading अगर कोविड-19 टीका प्रमाण पत्र में है गलतियां तो घर बैठे करें सही..

Good News: AIIMS निदेशक का बड़ा बयान, कहा- बच्चों के संक्रमित होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं, ना हों परेशान

नई दिल्ली | देशभर में कोरोना के मामले अब कम होने लगे हैं. इसी बीच AIIMS के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया का एक बड़ा बयान आया है. डॉक्टर गुलेरिया ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण यह लहरें नहीं आती है बल्कि वायरस के अपने स्वरूप बदलने के कारण परेशानियां बढ़ती. उन्होंने कहा कि स्पष्ट तौर पर अगर बात करें तो अभी तक इस बात की कोई प्रमाण नहीं है कि कोरोना की तीसरी लहर से बच्चे ज्यादा प्रभावित होने वाले हैं. उन्होंने कहा कि मैं अपने देश के वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों का मजाक नहीं उड़ाना चाहता, लेकिन यह सच है कि अब तक हमें इस संबंध में कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले मुझे तीसरी लहर आएगी और इससे बच्चे ज्यादा प्रभावित होंगे. लॉकडाउन से कम होता है इंफेक्शन का फैलाव प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि लॉकडाउन के कारण इंफेक्शन के फैलाव में कमी आती है. उन्होंने कहा कि देश के कई राज्यों में अब लॉकडाउन में कुछ छूट दी गई है. उन्होंने कहा कि ऐसे भी देश की जनता को कितने दिनों तक घरों में कैद किया जा सकता है. हालांकि डॉ गुलेरिया नहीं है… Continue reading Good News: AIIMS निदेशक का बड़ा बयान, कहा- बच्चों के संक्रमित होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं, ना हों परेशान

Vaccine Politics: पिता मुलायम सिंह यादव ने ली वैक्सीन तो नरम पड़ गये अखिलेश के तेवर, कहा- BJP के टीके का विरोध, भारत सरकार का टीका हम भी लगवाएंगे…

लखनऊ | भारत में टीकाकरण अभियान के शुरू होने के बाद से लगातार राजनीति हो रही है. समाजवादी पार्टी के नेता उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना की वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन बता कर लगवाने से इनकार कर दिया था. इसमें कोई शक नहीं है भारत सरकार लगातार वैक्सीनेशन को लेकर नए नियम बना रही है. इससे लोगों ने संशय की स्थिति बनी हुई है. इन्हीं कारणों से अखिलेश यादव ने कोरोना की वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन कहकर संबोधित किया था. लेकिन पिता मुलायम सिंह यादव के कोरोना का टीका लेने के बाद अखिलेश यादव ने यू-टर्न ले लिया. अखिलेश ने कहा कि वे भाजपा के टीके के विरोध कर रहे थे, भारत का टीका वे जरूर लगवाएंगे. जनाक्रोश को देखते हुए आख़िरकार सरकार ने कोरोना के टीके के राजनीतिकरण की जगह ये घोषणा करी कि वो टीके लगवाएगी। हम भाजपा के टीके के ख़िलाफ़ थे पर ‘भारत सरकार’ के टीके का स्वागत करते हुए हम भी टीका लगवाएंगे व टीके की कमी से जो लोग लगवा नहीं सके थे उनसे भी लगवाने की अपील करते हैं। — Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) June 8, 2021 बढ़ रहा था जनाक्रोश, इसलिए लिया यू-टर्न जानकारों की मानें तो अखिलेश… Continue reading Vaccine Politics: पिता मुलायम सिंह यादव ने ली वैक्सीन तो नरम पड़ गये अखिलेश के तेवर, कहा- BJP के टीके का विरोध, भारत सरकार का टीका हम भी लगवाएंगे…

cowin app cyber crime: कोविन के डुप्लीकेट ऐप से रहें सावधान नहीं तो हो जाएंगे ठन-ठन गोपाल

new delhi: भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने आतंक मचा रखा था लेकिन अब कोरोना के मामलों में गिरावट आने लगी है। इसकी एक बड़ी वजह कोरोना वैक्सीन भी है। भारत में बड़ी संख्या में टीकाकरण अभियान चल रहा है। 1 मई से 18+ का वैक्सीनेशन का शुरु हुआ था। जिसके लिए कोविन ऐप से रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है। वैक्सीन लगवाने के लिए स्लॉट बुक करना होता है। शेड्यूल चुन कर तय समय पर वैक्सीनेशन कराना होता है। लेकिन जहां एक ओर देश में कोरोना रोधी टीकों की मांग और पूर्ति में भारी अंतर है तो वहीं कुछ लोग इसका फायदा उठाने में लगे हैं। कुछ लोग वैक्सीन के नाम पर लोगों को ठग रहे है। आजकल इस प्रकार की घटना देखने को मिल रही है। इसलिए आप सतर्क रहें। अगर आपके पास कोई भी वैक्सीन से संबंधित लिंक आता है तो उस पर बिल्कुल भी क्लिक ना करें। इसे भी पढ़ें JMI Recruitment 2021: जामिया युनिवर्सिटी में प्रोफेसर के पदों पर भर्ती, आवेदन की अंतिम तिथी 30जून Cowin से मिलते-जुलते ऐप Cowin वेबसाइट पर आपके वैक्सीनेशन से जुड़ी सारी जानकारी होती है। अब हैकर्स ने इस वेबसाइट को भी निशाना बना लिया है। वेबसाइट के नाम से मिलते… Continue reading cowin app cyber crime: कोविन के डुप्लीकेट ऐप से रहें सावधान नहीं तो हो जाएंगे ठन-ठन गोपाल

CM Vs CM :  एक ही दिन में 2 लाख टीके लगवाकर केजरीवाल ने कोई गलती तो नहीं की, तो फिर क्यों भड़क गये मनोहर लाल खट्टर

देश में कोरोना कि दूसरी लहर के कारण जो हालात उत्पन्न हुए वह किसी से भी छिपे हुए नहीं है. लेकिन अब जब कोरोना के नए मामलों में कमी देखी जा रही है तो एक बार फिर लोगों की उम्मीदें सरकार और वैक्सीनेशन पर ट

शिव सेना का बीएमसी चुनाव पर फोकस

अगले साल बृहन्नमुंबई महानगर पालिका यानी बीएमसी के चुनाव होने वाले हैं। महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना के लिए बीएमसी का चुनाव उतना ही अहम है, जितना विधानसभा का चुनाव होता है। ध्यान रहे बीएमसी का बजट कई राज्यों के बजट से ज्यादा है और पिछले करीब ढाई दशक से बीएमसी पर शिवसेना का नियंत्रण है। पिछली बार शिव सेना और भाजपा के बीच सीटों का अंतर बहुत कम का रह गया था। सो, इस बार शिवसेना के लिए वास्तविक चुनौती भाजपा की है। हालांकि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की साझा ताकत कम नहीं है और अगर तीनों पार्टियां मिल कर बीएमसी की चुनाव लड़ती हैं तो उनके लिए लड़ाई बहुत आसान होगी। लेकिन यह फैसला होने से पहले शिवसेना अपनी तैयारी अलग कर रही है। वह कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ लड़ाई इस अंदाज में लड़ रही है जैसे उसे बीएमसी का चुनाव अकेले की लड़ना है। यह भी पढ़ें: आजकल उपाधियां बांट कौन रहा है? इसमें बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कमाल किया है। शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने चहल को पूरी छूट दे रखी है। वे किसी राज्य के मुख्य सचिव की तरह फैसले कर रहे हैं। उन्होंने कोरोना वायरस से लड़ने का जो मॉडल… Continue reading शिव सेना का बीएमसी चुनाव पर फोकस

Covid-19 और Vaccination पर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन इन 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे वर्चुअल बैठक

नई दिल्ली | कोरोना महामारी को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Health Minister Harsh Vardhan) आज चार राज्यों में कोविड-19 (Covid-19) की स्थिति और टीकाकरण अभियान (Vaccination Campaign) की प्रगति पर उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। हर्षवर्धन दोपहर तीन बजे इन चार राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों (Health Ministers) के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक (Meeting) करेंगे। केंद्रीय मंत्री वर्तमान कोविड की स्थिति की समीक्षा करेंगे और घातक वायरस के प्रसार को कम करने के लिए अपने-अपने राज्यों में चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान की प्रगति की समीक्षा करेंगे, इसे भी पढ़ें – Bollywood News : अभिनेत्री गुल पनाग ने कहा, फिल्म करियर ने अन्य चीजों को करने के लिए सक्षम बनाया जिससे अब तक देश भर में 2,43,72,907 लोग संक्रमित हुए हैं, 36,73,802 सक्रिय मामले और 2,66,207 मौतें शामिल हैं। मंत्री ने ट्वीट कर इन राज्यों में कोविड-19 की स्थिति और टीकाकरण अभियान ((Vaccination Campaign)) पर अपनी बैठक की जानकारी दी। राज्य में अब तक 13,85,855 कोविड मामलों के साथ उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है, इसके बाद आंध्र प्रदेश (11,75,843), गुजरात (6,09,031) और मध्य प्रदेश (6,05,423) है। स्वास्थ्य मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में कोविड -19 स्थिति… Continue reading Covid-19 और Vaccination पर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन इन 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे वर्चुअल बैठक

और लोड करें