White Fungus ने महिला के आंत में किया छेद, विश्व में पहला मामला

DELHI: पूरे देश में कोरोना के मामले कम होने खबर सामने आ रही है। लेकिन मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। कोरोना के मामले भले ही कम हो है लेकिन ब्लैक फंगस और व्हाईट फंगस के मामले बढ़ते ही जा रहे है। हाल ही में दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में व्हाइट फंगस का भयावह मामला देखने को मिला है।  व्हाइट फंगस की वजह से एक महिला के छोटी आंत और बड़ी आंत में छेद हो गया है। अस्पताल का दावा किया है कि यह विश्व में पहला केस है। चार घंटे की सर्जरी के बाद छेदों को बंद किया गया 49 साल की महिला को पेट में दर्द और उल्टी की समस्या के बाद इसी महीने की 13 तारीख को सर गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। महिला कैंसर से पीड़ित थी और कुछ वक्त पहले ही उसकी कीमोथेरेपी भी हुई थी। जब अस्पताल में महिला का सीटी स्कैन किया गया, तो आंतों में छेद होने का पता चला। सर गंगा राम अस्पताल के मेटऑफ सिवर, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी एंड पैन्क्रिपाटिकोबितरी साइंसेज डिपार्टमेंट के डॉ. (प्रो.) अमित अरोड़ा ने बताया कि चार घंटे चली सर्जरी के बाद महिला की फूड पाइप, छोटी आंत और बड़ी आंत… Continue reading White Fungus ने महिला के आंत में किया छेद, विश्व में पहला मामला

देश में ब्लैक फंगस और व्हाईट फंगस के बाद सामने आया Yellow fungus का मामला, सबसे अधिक खतरनाक है यह

देश में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे है। कोरोना संकट के बीच कभी ब्लैक फंगस तो कभी व्हाईट फंगस के मामले सामने आ रहे है। लेकिन अब इन दोनों से भी परे यैलो फंगस का मामला देखने को मिला है। यलो फंगस का पहला मामला गाजियाबाद  में देखने को मिला है। यलो फंगस अभी तक मरीजों मे मिले ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस से ज्‍यादा खतरनाक बताया जा रहा है। बता दें कि गाजियाबाद के जिस मरीज में यलो फंगस पाया गया है, उसकी उम्र 34 साल है और वह कोरोना से संक्रमित रह चुका है। इसके साथ ही वह डाइबिटीज से भी पीड़ित है। डॉक्टर्स अभी व्हाईट फंगस को समझने की कोशिश कर ही रहे थे कि यैलो फंगस और आ गया। लेकिन सबसे ज्यादा आतंक ब्लैक फंगस ने ही मचाया है। ब्लैक फंगस मरीज के दिमाग और आंतों में भी पहुंच गया है। वैज्ञानिकों के अनुसार यैलो फंगस अभी तक सबसे खतरनाक माना जा रहा है। इसे भी पढ़ें CORONA VACCINE RAGISTRATION :बड़ी राहत!! अब 18+ वालों को बिना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के मिलेगी वैक्सीन.. ये है यैलो फंगस के लक्षण यलो फंगस ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस से ज्‍यादा खतरनाक है और घातक बीमारियों में से एक है। यलो… Continue reading देश में ब्लैक फंगस और व्हाईट फंगस के बाद सामने आया Yellow fungus का मामला, सबसे अधिक खतरनाक है यह

फंगल इंफेक्शन कितना खतरनाक?

मेडिकल साइस में फंगस इंफेक्शन को माइकोसिस कहते हैं। यह इंफेक्शन किसी को भी हो सकता है और इससे लक्षण शरीर के अनेक भागों जैसेकि त्वचा, हाथ, पैर, बगल, स्किन फोल्ड, जननांग और आंखों इत्यादि पर उभरते हैं। आमतौर पर इसका असर त्वचा पर होता है लेकिन समय पर इलाज न मिलने से टिश्यू, हड्डियां और दूसरे अंग भी डैमेज होने लगते हैं। कोरोना से पहले हमारे देश में हर साल फंगल इंफेक्शन के लाखों मामले  सामने आते थे लेकिन तब इनकी घातकता इतनी नहीं थी कि इतने लोगों की मौत हो। . लोग फंगस को छूने या उसी वातावरण में सांस लेने से इनके सम्पर्क में आते हैं। यदि ये सांस से शरीर में चले जायें तो अंदरूनी भाग संक्रमित हो जाते हैं। यह भी पढ़ें: पसर रहा है मल्टीपल माइलोमा…… कोरोना के साथ अब ब्लैक और व्हाइट फंगस बीमारी हैं। लोगों की मौत और आंखें खराब होने की वजह से देश के कुछ राज्यों ने इन्हें महामारी घोषित कर दिया है। खबरिया चैनल इन्हें इतना बढा-चढ़ा कर दिखा रहे हैं कि मानों ये कोरोना से भी भयानक बीमारी हैं, जबकि ऐसा नहीं है। असलियत है कि पृथ्वी पर जीवन के साथ ही ये बीमारियां मौजूद हैं। ऐसे में… Continue reading फंगल इंफेक्शन कितना खतरनाक?

कौन ज्यादा खतरनाक है ब्लैक फंगस या व्हाईट फंगस..आइये जानते है विशेषज्ञों की राय

पूरा देश कोरोना वायरस का प्रकोप तो झेल ही रहा था कि ब्लैक फंगस और उसके बाद व्हाईट फंगस जैसी खतरनाक बीमारियां आ गई। लोग ब्लैक फंगस से सावधानी बरत रहे थे कि व्हाईट फंगस आ गया। लोगों को ये समझ नहीं आ रहा है कि व्हाईट फंगस के लक्षण क्या है? इससे बचने के लिए क्या करें और क्या नहीं। ब्लैक फंगस और व्हाईट फंगस ने लोगों को दहशत में डाल रखा है। ब्लैक फंगस से लोगों की आंखों की रोशनी जा रही है। ब्लैक फंगस के मरीजों की आंखें निकाली भी जा चुकी है तो कुछ ने अपनी जान गंवा दी है। इस पर विशेषज्ञों ने कहा है कि व्‍हाइट फंगस जैसी कोई बीमारी नहीं है। वह कुछ और नहीं बल्कि Candidiasis  ही है। इसे भी पढ़ें Black fungus : ब्लैक फंगस का रोंगटे खड़े कर देने वाला मामला आया सामने, सुनते ही रूह कांप जाएगी क्या है Candidiasis कैंडिडिआसिस किसी भी प्रकार के कैंडिडा (एक प्रकार का यीस्‍ट) के कारण होने वाला एक फंगल संक्रमण है। जब यह केवल मुंह को प्रभावित करता है, तो कुछ देशों में उसे थ्रश कहा जाता है। इसके लक्षणों में जीभ या मुंह और गले के आसपास सफेद धब्बे आना शामिल है।… Continue reading कौन ज्यादा खतरनाक है ब्लैक फंगस या व्हाईट फंगस..आइये जानते है विशेषज्ञों की राय

WHITE FUNGUS: क्या है व्हाईट फंगस, क्या ये ब्लैक फंगस से भी ज्यादा खतरनाक है??

कोरोना महामारी (corona) के बीच फंगल संक्रमण(fungul infection) का कहर भी जारी है। कई राज्यों में एक के बाद एक ब्लैक फंगस (Black Fungus) के ढेरों मरीजों के आने के बाद केंद्र सरकार ने प्रभावित राज्यों में इसे महामारी घोषित करने को कहा। राजस्थान(rajasthan) में ब्लैक फंगस(black fungus) को महामारी घोषित कर दिया है। राजस्थान में कोरोना के साथ  ब्लैक फंगस के भी मरीज आ रहे है।  ब्लैक फंगस (black fungus) के कारण राजस्थान में मौत भी हो गयी है। इस इंफेक्शन के खात्मे की शुरुआत भी नहीं हो सकी थी, कि एकाएक वाइट फंगस (White Fungus) के मरीज भी आने लगे। डॉक्टर्स अभी ब्लैक फंगस को समझ ही रहे थे कि व्हाइट फंगस भी आ गया। विशषज्ञों (experts)के मुताबिक ये नया संक्रमण ब्लैक फंगस से भी ज्यादा खतरनाक है क्योंकि ये केवल एक अंग नहीं, बल्कि फेफड़ों और ब्रेन से लेकर हर अंग पर असर डालता है। पटना में व्हाइट फंगस के चार मरीज मिले है। इसे भी पढ़ें हम नहीं सुधरेंगे ! रिपोर्ट में हुआ खुलासा- 50 प्रतिशत लोग अब भी नहीं पहनते मास्क, इनमें भी 14 फीसदी ही सही तरह से करते हैं मास्क का प्रयोग लगभग हर अंग पर असर करता है चिकित्सकीय भाषा में इसे कैंडिडा… Continue reading WHITE FUNGUS: क्या है व्हाईट फंगस, क्या ये ब्लैक फंगस से भी ज्यादा खतरनाक है??

White Fungus : कोरोना का नया चैप्टर पढ़ने के लिए डॉक्टर्स तैयार.. नाम है व्हाइट फंगस

कोरोना वायरस के चलते फैले संक्रमण ने भारत के साथ पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। कोरोना संक्रमितों में अन्‍य बीमारियों के लक्षण ने डॉक्‍टरों और मरीजों दोनों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों में ब्‍लैक फंगस की शिकायत मिलने की बात सामने आई थी, लेकिन अब कोरोना मरीजों में व्‍हाइट फंगस की समस्‍या भी पाई गई है। कोरोना मरीजों में एक के बाद एक बीमारी की पुष्टि हो रही है। डॉक्टर्स अभी ब्लैक फंगस को समझ ही रहे थे कि व्‍हाइट फंगस और आ गया। इसने डॉक्टरों का परेशानी बढ़ा दी है। पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना के 4 मरीजों में व्‍हाइट फंगस मिलने की पुष्टि हुई है। संक्रमित मरीजों में पटना के एक फेमस स्पेशलिस्ट भी शामिल हैं। डॉक्टर्स अभी इस पर रिसर्च कर रहे है कि इसके लक्षण क्या है, यह किस कारण होता है, इससे बचने के लिए क्या उपाय करें और क्या नहीं। इसे भी पढ़ें Covid-19 vaccination : कोविड-19 से ठीक होने के बाद वैक्सीनेशन करवाने के लिए अब करना होगा तीन महीने का इंतज़ार-स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी मंजूरी व्‍हाइट फंगस को कोविड और पोस्‍ट कोविड के मरीज गंभीरता से ले पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर… Continue reading White Fungus : कोरोना का नया चैप्टर पढ़ने के लिए डॉक्टर्स तैयार.. नाम है व्हाइट फंगस

और लोड करें