उत्तरप्रदेश में बदलने जा रहा इस रेलवे स्टेशन का नाम, जानें क्या तय हुआ नाम और कब तक बदला जाएगा..

योगी सरकार ने झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन करने का प्रस्ताव दिया है। इस बाद की जानकारी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में दी।

पड़ोसी राज्य योगी सरकार की देखादेख उत्तराखंड सरकार भी जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की तैयारी में, जानें सीएम धामी की रणनीति..

पुष्कर सिंह धामी की सरकार इसके लिए कमेटी बनाने जा रही है। जो यह संभावना देखेगी कि जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू किया जा सकता है या नहीं और हां तो किस तरह। इस बात की जानकारी सूत्रों के हवाले से मिली है।

टिकैट ने अब दी योगी आदित्यनाथ को चुनौती, कहा- लखनऊ के रास्तों को बंद कर उसे दिल्ली बना देंगे…

इसी क्रम में अब किसान नेता राकेश टिकैत ने योगी आदित्यनाथ को खुली चुनौती दे दी है. टिकैत ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा है कि यदि अब भी सरकार नहीं मानी तो वे लखनऊ को दिल्ली बना देंगे.

CM योगी की नई जनसंख्या नीति पर अब तक 8500 लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया, जानें सबसे ज्यादा लोगों ने क्या कहा

लखनऊ | New Population Policy In UP : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के ठीक पहले नई जनसंख्या नीति का विमोचन कर सीएम योगी आदित्यनाथ ने हड़कंप मचा दिया था. हालांकि उत्तर प्रदेश में इस नई जनसंख्या नीति पर लोगों से उनकी राय भी मांगी गई थी. बता दें कि अब तक जनसंख्या नीति के कानून पर 8500 लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी है. इन लोगों में कुछ नई जनसंख्या नीति पर कानून बनाने के लिए अपनी सहमति दी है तो कुछ इसके विरोध में भी दिखाई दे रहे हैं. इनमें ज्यादातर ऐसे लोग हैं जो कानून को सख्त बनाना चाहते हैं. बता दें कि 9 जुलाई को उत्तर प्रदेश जनसंख्या नियंत्रण, स्थिरीकरण और कल्याण विधेयक 2021 को अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया था. कानून बनने में कम से एक साल का लगेगा समय New Population Policy In UP : इस संबंध में आयोग की ओर से कहा गया है कि कई लोग ऐसे हैं जिन्हें नई जनसंख्या नीति पर कोई जानकारी नहीं है. इसलिए लोग अजीबोगरीब प्रतिक्रियाएं दे रही हैं. आयोग ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि यदि इस ड्राफ्ट को विधेयक के तौर पर विधानसभा में पेश किया जाता है, तब भी इसपर कानून… Continue reading CM योगी की नई जनसंख्या नीति पर अब तक 8500 लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया, जानें सबसे ज्यादा लोगों ने क्या कहा

कावड़-यात्रा और महामारी

kanwar yatra covid 19 : आजकल हमारी न्यायपालिका को कार्यपालिका का काम करना पड़ रहा है। सरकार के कई महत्वपूर्ण फैसलों का अंतिम फैसला अदालतें कर रही हैं। ऐसा ही एक बड़ा मामला कावड़-यात्रा का है। इस यात्रा में 3-4 करोड़ लोग भाग लेते हैं। कई प्रदेशों के लोग कंधे पर कावड़ रखकर लाते हैं और हरिद्वार से गंगाजल भरकर अपने-अपने घर ले जाते हैं। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने इस कावड़-यात्रा की अनुमति दे रखी है जबकि कुछ ही हफ्तों पहले कुंभ-मेले के वजह से लाखों लोगों को कोरोना का शिकार होना पड़ा था, ऐसा माना जाता है। उ.प्र. सरकार जनता की भावना का सम्मान करके यात्रा की इजाजत दे रही है, यह तो ठीक है लेकिन ऐसा सम्मान किस काम का है, जो लाखों-करोड़ों लोगों को मौत के मुहाने पर पहुंचा दे ? एक तरफ प्रधानमंत्री पूर्वी सीमांत के प्रदेशों में बढ़ती महामारी पर चिंता प्रकट कर रहे हैं और दूसरी तरफ उन्हीं की पार्टी के मुख्यमंत्री यह खतरा मोल ले रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी कह रहे हैं कि महामारी के तीसरे आक्रमण की पूरी संभावनाएं हैं। इसके बावजूद इतने बड़े पैमाने पर मेला जुटाने की क्या जरुरत है ? गंगाजल आखिर किसलिए लोग अपने… Continue reading कावड़-यात्रा और महामारी

योगी सरकार ने कावड़ियो को दिखाई हरी झंडी लेकिन सीएम धामी ने रद्द की कावड़ यात्रा, ऐसे में यूपी के कावड़िये उत्तराखंड में कैसे करेंगे प्रवेश

देहरादून |  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने मंगलवार को कावड़ यात्रा पर एक महत्वपूर्ण बैठक की। और इस बैठक में कावड़ यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया। लगातार दूसरी साल कावड़ यात्रा को रद्द किया गया है। हाल ही में इस बाबत इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी को एक पत्र लिखा जिसमें कावड़ यात्रा रोकने की अपील की। वैज्ञानिकों ने कोरोना की तीसरी लहर आने का अंदेशा अक्टूबर-नवंबर तक दिया है। कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए योगी सरकार ने कावड़ यात्रा को हरी झंडी दिखाई है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने कहा है कि  कोरोना गाइडलाइन के साथ सभी कावड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम करेगी। योगी सरकार के इस फैसले ने  उत्‍तराखंड पुलिस की चिंता बढ़ा दी है। ( kawad yatra 2021 canceled ) उत्‍तराखंड पुलिस का कहना है कि राज्य के बॉर्डर्स में किसी भी कांवड़िए को जबरदस्ती नहीं घुसने दिया जाएगा। इसके लिए भारी सुरक्षा फोर्स को डिप्लॉय किया जाएगा। साथ ही अगर किसी राज्य को गंगाजल चाहिए तो उसको टैंकरों में भेजा जाएगा। उत्तराखंड में कुंभ को हामी भरने के बाद से कोरोना का विस्फोट हुआ था। कुंभ के कारण कोरोना की दूसरी लहर भी आई… Continue reading योगी सरकार ने कावड़ियो को दिखाई हरी झंडी लेकिन सीएम धामी ने रद्द की कावड़ यात्रा, ऐसे में यूपी के कावड़िये उत्तराखंड में कैसे करेंगे प्रवेश

यूपी चुनाव से पहले आएगी जनसंख्या नीति!

papulation policy up elections : उत्तर प्रदेश की सरकार क्या राज्य की नई जनसंख्या नीति लाने की तैयारी कर रही है? ऐसा लग रहा है कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले जनसंख्या नीति की घोषणा की जा सकती है। इसके साथ ही जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कानून बनाने पर भी विचार हो रहा है। उत्तर प्रदेश से पहले भाजपा शासित असम में इसकी पहल हुई थी। मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दो बच्चों का नियम लागू करने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने का ऐलान किया है। ऐसा लग रहा है कि इस तरह की कोई पहल उत्तर प्रदेश में ही की जा सकती है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसंख्या नीति 2021-30 के लिए बनाए गए राज्य विधि आयोग का प्रजेंटेशन देखा था। इसके बाद उन्होंने कहा कि जनसंख्या वृद्धि की दर को नियंत्रित करना बहुत जरूरी है। साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि समृद्धि के लिए जरूरी है कि छोटा परिवार रहे। डेढ़ साल बाद दिल्ली एम्स के डॉक्टरों को मिली 12 जुलाई से 31 तक की छुट्टी, मरीजों को हो सकती है परेशानी इसके बाद से ही अंदाजा लगाया जा रहा है कि राज्य सरकार जनसंख्या नियंत्रण का… Continue reading यूपी चुनाव से पहले आएगी जनसंख्या नीति!

ऐसे ही ‘मां’ और ‘पवित्र’ नहीं है गंगा ! संक्रमित शवों के बहाए जाने के बाद भी गंगा का जल एंटी वायरल

नई दिल्ली। Ganga’s water Found Negative: कोरोना की दूसरी लहर के बाद से देश की नदियों के पानी की भी जांच शुरू कर दी गई. आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि उत्तर प्रदेश में स्थित महादेव की नगरी काशी में गंगा नदी के पानी की जब कोरोना जांच की गई तो उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई. बता दें कि यह रिपोर्ट वाराणसी के बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी और लखनऊ के बीरबल साहनी पुराविज्ञान के वैज्ञानिकों द्वारा जारी की गई है. गंगा के पानी में कोरोना की जांच के लिए वैज्ञानिकों ने लगातार 4 सप्ताह तक अलग-अलग स्थानों में गंगाजल के सैंपल लिए. इसके बाद इन सभी सैंपलों की rt-pcr जांच की गई. इस जांच में हर बार कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आई है जिससे यह साफ हो गया है कि गंगा में स्नान करने से कोरोना का खतरा नहीं है. रिपोर्टों से उत्साहित होकर वैज्ञानिकों ने कहा कि अब तो हम भी यह मानने लगे हैं कि गंगा का जल एंटी वायरल है. अहमदाबाद के साबरमती नदी का पानी मिला था संक्रमित Ganga’s water Found Negative: बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के कई नदियों और तालाबों के पानी की जांच की गई थी. यह जांच देश में… Continue reading ऐसे ही ‘मां’ और ‘पवित्र’ नहीं है गंगा ! संक्रमित शवों के बहाए जाने के बाद भी गंगा का जल एंटी वायरल

Dead bodies In Ganga: जलस्तर बढ़ने के बाद गंगा नदी से बाहर आते शवों का हिंदू रीति-रिवाजों से किया जा रहा है अंतिम संस्कार

प्रयागराज | Dead bodies In Ganga: मानसून के आने के बाद से गंगा नदी का भी जलस्तर बढ़ गया है. यही कारण है कि कोरोना काल में दफनाए गए शव एक बार फिर से जल्द सर बढ़ने के कारण बाहर आने लगे हैं. इस परेशानी से निपटने के लिए नगर निगम को जिम्मेवारी दी गई. इस संबंध में जानकारी देते हुए निगम के जोनल अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने कहा कि गंगा में शवों के बाहर आने का सिलसिला रोकने के लिए हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि गंगा में शवों को बढ़ाने को लेकर प्रशासन भी अलर्ट है. उन्होंने इस बात की पुष्टि की थी जल स्तर बढ़ने के कारण शव एक बार फिर से बाहर दिखाई देने लग गए हैं. हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट तौर पर कहा कि सरकार और प्रशासन ने गंगा किनारे घाटों पर शवों को दफनाने के लिए साफ तौर पर मना किया है. उन्होंने कहा कि सरकार के निर्देश के बाद से वहां शवों को दफनाने का सिलसिला रुक गया है. उत्तर प्रदेश: प्रयागराज में गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण तट पर दफनाए गए शव पानी से बाहर आ रहे हैं। नगर निगम के जोनल अधिकारी नीरज… Continue reading Dead bodies In Ganga: जलस्तर बढ़ने के बाद गंगा नदी से बाहर आते शवों का हिंदू रीति-रिवाजों से किया जा रहा है अंतिम संस्कार

Uttar Pradesh Election 2022 :  अबकी बार जनसंख्या पर वार, Population Control कानून की तैयारी में BJP 

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों ( Uttar Pradesh Election 2022 ) को लेकर एक बार फिर से राजनीतिक पार्टियों में सुगबुगाहट तेज हो गई है. स्थितियों को देखकर लगता है कि उत्तर प्रदेश में इस बार का चुनाव भाजपा जनसंख्या नियंत्रण कानून के मुद्दे पर लड़ना चाहती है. उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की तैयारी भाजपा कर रही है. इस कानून के तहत अब दो से ज्यादा बच्चों के माता-पिता को आने वाले समय में सरकारी सुविधाओं की सब्सिडी से अलग कर दिया जाएगा. भाजपा के कई विधायकों सांसदों ने हाल में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग उठाई है. माना भी जाने लगा है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव इसी मुद्दे पर लड़ा जाएगा. भाजपा नेता इस कानून को देश हित में जरूरी बता रहे हैं. विपक्ष बता रहा है चुनावी स्टंट जनसंख्या नियंत्रण कानून को उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बसपा दोनों ही सिर्फ चुनावी स्टंट बता रही हैं. एक सपा नेता ने तो यहां तक कह दिया कि बीजेपी अभी से ही चुनाव की तैयारी में लग गई है . इसी कारण जनसंख्या नियंत्रण कानून का नाम लेकर लोगों को गुमराह करना शुरू कर दिया है. वहीं अखिलेश यादव का… Continue reading Uttar Pradesh Election 2022 :  अबकी बार जनसंख्या पर वार, Population Control कानून की तैयारी में BJP 

Uttar pradesh: दस्तावेजों की जांच में पाए गये 50 से ज्यादा फर्जी शिक्षक, अब केस दर्ज करने के साथ ली गई सैलरी भी वापस लेगी योगी सरकार

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से फर्जी दस्तावेजों के सहारे बने शिक्षकों की बड़ी संख्या सामने आई है. अब तक यह संख्या 50 के आसपास पहुंच चुकी है. बताया जा रहा है कि 2018 में इन सभी शिक्षकों ने शिक्षा विभाग में फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र दिखाकर नौकरी पाई थी. जब इस बात की भनक सरकार को लगी तो सरकार ने इसकी जांच का जिम्मा एसटीएफ को दे दिया. एसटीएफ की जांच में ये बात साबित हो गई है कि 2018 में हुई नियुक्ति के दौरान कई लोगों ने फर्जी दस्तावेज पेश करें नौकरियां पाई हैं. होती जा रही थी जांच बढ़ती जा रही थी संख्या जैसे-जैसे एसटीएफ जांच कर रहा था वैसे वैसे फर्जी शिक्षकों की संख्या बढ़ती जा रही थी. जानकारी के अनुसार फर्जी दस्तावेजों को पेश कर शिक्षक बने आरोपियों पर फर्जीवाड़े और धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करा कर जेल भी भेजा जा रहा है. इस संबंध में राज्य सरकार ने भी आदेश दिए हैं कि ऐसे धोखाधड़ी करने वाले लोगों को बिल्कुल भी नहीं बख्शा जाए और उन पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए. बताया जा रहा है कि मुकदमा दर्ज कराने के बाद इन फर्जी शिक्षकों से उनके आहरित वेतन की रिकवरी… Continue reading Uttar pradesh: दस्तावेजों की जांच में पाए गये 50 से ज्यादा फर्जी शिक्षक, अब केस दर्ज करने के साथ ली गई सैलरी भी वापस लेगी योगी सरकार

कोरोना काल में 24 घंटे लगातार हुआ मंदिर निर्माण कार्य, अक्टूबर तक नींव भराने का कार्य हो जाएगा पूरा

1 लाख 20 हजार घन मीटर मलबा निकाला गया है. एक फुट मोटी लेयर बिछाकर रोलर से काॅम्पैक्ट करने में 4 से 5 दिन लग रहे है. अक्टूबर माह तक काम पूर्ण होने की उम्मीद है.

योगी आदित्यनाथ की इस पहल का हर कोई हुआ मुरीद, तीसरी लहर को रोकने के लिए शुरू हुई ये प्लानिंग

Lucknow: कोरोना की दूसरी लहर के प्रकोप को देखने के बाद से अब केंद्र सरकार के साथ ही राज्यों की सरकारें भी सतर्क हो गई हैं. यही कारण है कि वैक्सीनेशन की कमी के बाद भी नये तरिके निकाल कर लोगों का भला करने की सोच रही है. इसके साथ ही कोरोना के प्रकोप को झेलने के बाद से अब राज्यों की सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाह रही हैं. इसी कड़ी में अब उत्तर प्रदेश सरकार की कमान संभाल रहे योगी आदित्यनाथ ने भी एक पहल की है. योगी सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर की भविष्यवाणी को देखते हुए निर्णय लिया है कि उत्तर प्रदेश में पहले 12 वर्षीय बच्चों के मां बाप को करुणा का टीका लगाया जाएगा. बता दें कि तीसरी लहर को लेकर ये कहा गया है कि इससे सबसे ज्यादा प्रभावित बच्चे होंगे. यहीं कारण है कि योगी सरकार पहले से ही स्थिति से निपटने का प्रयास कर रही है. तैयार किए जाएंगे अभिभावक स्पेशल बूथ योगी आदित्यनाथ ने इस संबंध में कहा है कि इस पहल से उम्मीद है कि अभिभावकों के साथ-साथ बच्चों को भी कुछ सुरक्षा दी जा सकेगी. उन्होंने कहा कि अधिकारियों को 12 साल के कम उम्र के बच्चों… Continue reading योगी आदित्यनाथ की इस पहल का हर कोई हुआ मुरीद, तीसरी लहर को रोकने के लिए शुरू हुई ये प्लानिंग

गंगा में तैरते शवों की वीडियो और तस्वीरें डालने वाले रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह पर दर्ज हुआ केस, कहा – ‘यूपी मॉडल’ की पोल खोलने का इनाम

Lucknow :  गंगा नदी में बहते शवों के वीडियो और तस्वीरो से देशबर में हड़कंप मच गया था. इन ट्वीट को पोस्ट करने वाले रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह को ऐसा करना महंगा पड़ गया है.  उन्नाव पुलिस ने रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ महामारी एक्ट, आपदा प्रबंधन एक्ट व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस का कहना है कि रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह द्वारा किया गया ट्वीट भ्रामक है. इतना ही नहीं, पुलिस ने उन पर ट्वीट के माध्यम से जन मानस को भड़काने के प्रयास का आरोप भी लगाया है. रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह हाल ही में गंगा नदी में उतराते शवों का वीडियो और कुछ तस्वीरें ट्वीट की थी. उन्होंने उन्नाव जिले का एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘उन्नाव में गंगा के किनारे दफनाई गयी लाशें हिन्दुओं की हैं जिनका अंतिम संस्कार ग़रीबी के कारण वैदिक रीति रिवाज़ से नहीं हो सका. मौत के असली आंकड़े भी इन हिन्दू कब्रों में ही दफ़न हो गए. योगी सरकार की नाकामी के शिकार इन निर्दोषों की मौत में सकारात्मकता कहां से खोजें, मोदी जी?’ जिसके बाद एसपी सिंह का ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल गया. माँ गंगा में तैरते 2000… Continue reading गंगा में तैरते शवों की वीडियो और तस्वीरें डालने वाले रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह पर दर्ज हुआ केस, कहा – ‘यूपी मॉडल’ की पोल खोलने का इनाम

Uttar Pradesh Panchayat Elections 2021 Date : चुनाव कार्यक्रम, पन्द्रह ​दिनों में इस तरह होगा निर्वाचन, 2 मई को गणना

4 चरणों में होंगे चुनाव, 15,19, 26, 29 अप्रैल को मतदान, 2 मई को परिणाम लखनऊ | जनसंख्या के आधार पर देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव की घोषणा कर दी गई है। यूपी के 75 जिलों में चार चरणों में मतदान कार्यक्रम संपन्न होगा। उत्तर प्रदेश के पंचायतराज चुनावों को लेकर उच्चतम न्यायालय में भी पंचायत चुनाव को लेकर सुनवाई होनी है। वहां पर उच्च न्यायालय के निर्णय को चुनौती दी गई है। उच्चतम सुनवाई से पहले ही राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से आचार संहिता लागू कर दी गई है। उधर, प्रदेश में पंचायत की सरकार के संभावित प्रत्याशी भी प्रचार के लिए मैदान में उतर पड़े हैं। इससे गांव की सरकार से जुड़ी राजनीति तेज हो गई है। सोशल मीडिया (Social Media) पर भी प्रचार, आरोप-प्रत्यारोप के दौर जोर पकड़ चुके हैं। चुनाव आयोग के अनुसार 15 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होगा। दूसरा चरण 19 अप्रैल को होगा, तीसरे चरण का चुनाव 26 अप्रैल और चौथे चरण का 29 अप्रैल को निर्वाचन होगा। उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग के पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी करने के बाद प्रदेश में आदर्श आचार संहिता प्रारंभ हो गई है। दो… Continue reading Uttar Pradesh Panchayat Elections 2021 Date : चुनाव कार्यक्रम, पन्द्रह ​दिनों में इस तरह होगा निर्वाचन, 2 मई को गणना

और लोड करें