80 प्रतिशत मरीज ठीक हो जाते है कोरोना से

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के केवल 20 प्रतिशत मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती कराना पड़ता है और इनमें से कुछ को गहन चिकित्सा कक्ष में रखना पड़ता है। शेष 80 प्रतिशत मरीज खुद ठीक हो जाते हैं।

यह जानकारी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने मरीजों के लिए जागरूकता दिशा निर्देश पुस्तिका में दी गई है। पुस्तिका के अनुसार लोगों को सतर्क रहने और भीड़ भाड़ से बचने की जरूरत है लेकिन घबराने की बात नहीं ,पर उन्हें दिशा निर्देशों का पालन अवश्य करना चाहिए।

जिन मरीजों को उच्च रक्त चाप, डायबटीज़, कैंसर जैसे रोग हैं उन्हें कोरोना का खतरा अधिक रहता है पर वे भीड़ भाड़ से बचे और बार-बार हाथ धोते रहे। खाना से पहले हाथ जरूर धोए। पुस्तिका के अनुसार कोरोना वायरस फर्श या जमीन पर कितने देर तक रहता है इसका कोई निश्चित आंकड़ा नहीं है।

कुछ अध्ययनों के अनुसार फर्श पर यह वायरस कुछ घण्टे से लेकर कई दिनों तक रहता है क्योंकि यह तापमान और परिस्थितियों तथा फर्श की प्रकृति पर निर्भर करता है। आपका फर्श संक्रमित है तो फर्श को संक्रमण रोधी तरल पदार्थ से साफ सुथरा जरूर रखें। सर्दी जुकाम और छींक या बुखार से पीड़ित मरीजों से एक मीटर दूर रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares