पांच महीने बाद बुझी तेल कुएं की आग

गुवाहाटी/तिनसुकिया। असम के बाघजन में तेल के एक कुएं को करीब पांच महीने बाद रविवार को सफलतापूर्वक बंद कर दिया गया और आग को पूरी तरह बुझा दिया गया। पूर्वोत्तर की इस बड़ी औद्योगिक तबाही में कंपनी के तीन कर्मचारियों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हो गए थे।

ऑयल इंडिया ने यह जानकारी दी कि कुएं की आग पर काबू पाने के लिए विदेशी विशेषज्ञों समेत कई दलों के लोगों की सहायता लेनी पड़ी। ऑयल इंडिया लिमिटेड (ओआईएल) के प्रवक्ता त्रिदिव हजारिका ने एक बयान में कहा, ‘कुएं को नमकीन घोल से नष्ट कर दिया गया है और अब हालात नियंत्रण में हैं। आग को पूरी तरह बुझा दिया गया है।’

उन्होंने कहा कि अब कुएं में कोई दबाव नहीं है और अगले 24 घंटों में यह जांचना होगा कि कहीं किसी गैस के रिसाव या दबाव का निर्माण तो नहीं हो रहा है। हजारिका ने कहा, ‘कुएं को छोड़ने के लिए आगे का काम जारी है।’ साथ ही उन्होंने बताया कि सिंगापुर की कंपनी अलर्ट डिजास्टर के विशेषज्ञ कुएं पर नियंत्रण के लिए अंतिम अभियान में सक्रिय रूप से लगे हुए हैं।

कंपनी के निदेशक (खोज और विकास) पी। चंद्रशेखरन, निदेशक (संचालन) पीके गोस्वामी और रेजिडेंट चीफ एक्जीक्यूटिव डीके दास ने कुएं को सफलतापूर्वक बंद किए जाने के बाद मौके पर जाकर मुआयना किया और एलर्ट के विशेषज्ञों के साथ उनकी विस्तृत बातचीत हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares