कोरोना : ‘जनता कर्फ्यू’ के समर्थन में पहाड़ की चोटी पर अनशन

महोबा। पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर पिछले 634 दिनों से आल्हा चौक में अनशन पर बैठे बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने आज कोरोना वायरस के खिलाफ जारी ‘जनता कर्फ्यू’ के समर्थन में अनशन स्थल बदल कर गोरखगिरि पहाड़ की चोटी में अनशन जारी रखा।

बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने बताया, हमने अनशन स्थल बदलने का फैसला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उस अपील के बाद लिया, जिसमें उन्होंने कोरोना महामारी रोकने के लिए जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। गोरखगिरि पहाड़ में लोगों की आवाजाही नहीं होती है इसलिए हमने यह स्थान चुना है।

पाटकर ने बताया, लगभग दो हजार फीट ऊंचाई में पहाड़ की चोटी पर सिद्ध बाबा का स्थान है, जहां कभी 11वीं-12वीं शताब्दी में नाथ संप्रदाय के प्रणेता गुरु गोरखनाथ तप किया करते थे। इसी स्थान पर अपने वनवास काल में चित्रकूट से भगवान राम और माता सीता भी अक्सर विहार करने आते थे। यहां स्थित सीता रसोई इसका प्रमाण है। यहां पहुंचने के लिए शिवतांडव मंदिर से डेढ़ किलोमीटर ऊपर चढ़ना होता है।

उन्होंने कहा कि हमारा अनशन अनवरत जारी रहेगा और कल से पुन: आल्हा चौक पर अनशन प्रारंभ होगा। पहाड़ की चोटी के एक दिवसीय अनशन स्थल पर उनके साथ ज्ञासीलाल, अन्ना, देशराज, दिनेश खरे, प्रवीण चौरसिया, अवधेश गुप्ता, सिद्धगोपाल सेन व प्रमोद पचौरी व जसवंतसिंह सेंगर समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares