nayaindia Hamid Ansari denies allegations हामिद अंसारी का आरोपों से इनकार
आज खास| नया इंडिया| Hamid Ansari denies allegations हामिद अंसारी का आरोपों से इनकार

हामिद अंसारी का आरोपों से इनकार

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के एक प्रवक्ता ने बहुत बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है। भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने आरोप लगाया है कि उप राष्ट्रपति रहते हामिद अंसारी ने एक पाकिस्तानी पत्रकार को पांच बार भारत बुलाया और उसे गोपनीय सूचनाएं मुहैया कराईं। उन्होंने कहा कि भारत को कमजोर करने के लिए यह जानकारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से साझा की गई। पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने इन आरोपों को खारिज किया है और कहा है कि जिस पाकिस्तानी पत्रकार की बात हो रही है वे उससे कभी नहीं मिले।

अंसारी ने एक बयान जारी कर कहा है कि उन्होंने पाकिस्तानी पत्रकार को कभी न्योता नहीं दिया। उन्होंने बयान में लिखा- ये बात सब जानते हैं कि उप राष्ट्रपति जिन विदेशी गणमान्य लोगों को न्योता भेजते हैं उसकी लिस्ट सरकार ही तैयार करती है। उन्होंने यह भी कहा कि वे पाकिस्तानी पत्रकार से कभी नहीं मिले। मीडिया और भाजपा उन पर झूठ आरोप लगा रहे हैं। दूसरी ओर भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा है कि पाकिस्तानी पत्रकार नुसरत मिर्जा ने ही यह खुलासा किया है कि तत्कालीन उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने उसे पांच बार भारत बुलाया था। मिर्जा जब भारत के दौरे पर था तब अंसारी ने उसे अति संवेदनशील और गोपनीय जानकारी दी।

भाटिया ने कहा कि पाकिस्तानी पत्रकार को जो जानकारी मिली, उसे भारत के खिलाफ इस्तेमाल किया गया, साथ ही वह जानकारी आईएसआई से शेयर की गई। भाटिया ने कहा है कि पाकिस्तानी पत्रकार नुसरत मिर्जा ने खुलासा किया कि तत्कालीन उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने उसे पांच बार भारत बुलाया था। अंसारी के साथ साथ कांग्रेस पर हमला करते हुए भाटिया ने कहा- क्या आतंकवाद के खात्मे के लिए कांग्रेस सरकार की यह नीति थी कि गोपनीय जानकारी साझा की जाए? देश की जनता ने अंसारी को सम्मान दिया। बदले में उन्होंने क्या दिया?

भाटिया के आरोपों का जवाब देते हुए अंसारी ने जो बयान जारी किया उसमें उन्होंने लिखा- यह सभी जानते हैं कि उप राष्ट्रपति जिन विदेशी मेहमानों को बुलाता है, उनको निमंत्रण भारत सरकार की सलाह पर विदेश मंत्रालय ही भेजता है। यह कहा जा रहा है कि मैंने 11 दिसंबर 2010 को आतंकवाद पर सम्मेलन का उद्घाटन किया था। जैसा कि सामान्य प्रथा है, आयोजकों ने ही मेहमानों की लिस्ट बनाई होगी। मैंने उसे कभी नहीं बुलाया और न ही उससे मुलाकात की।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

one × four =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ का जवान शहीद
छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ का जवान शहीद