• डाउनलोड ऐप
Thursday, May 6, 2021
No menu items!
spot_img

Kaviya Chopra : ​दिल्ली की काव्या चोपड़ा के इतिहास रचने की पूरी कहानी

Must Read

 

JEE Main 2021 Topper काव्या चोपड़ा ने बताई सफलता की कहानी, कहा- अपनी कमजोरी  पर करें काम | JEE Main 2021 Topper Kavya Chopra Shared her Success Story|  TV9 Bharatvarsh
नई दिल्ली। दिल्ली की काव्या चोपड़ा ने कमाल कर दिखाया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से बुधवार रात को जारी जेईई मुख्य परीक्षा परिणाम में काव्या ने बाजी मारी है। 300 में से 300 अंक हासिल कर काव्या ने इतिहास रच दिया है। इस उपलब्धि के साथ ही काव्या देश की वो प​हली छात्रा बन गई हैं, जिसने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (JEE) में 100 पर्सेंटाइल हासिल किए हैं। एनटीए की ओर से मार्च सत्र के लिए जारी किए गए इस रिजल्ट में 13 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किए हैं। देशभर से कुल 6 लाख 19 हजार 368 परीक्षार्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया था।

Kavya Chopra tops JEE Main 2021, becomes first female to score 100  percentile | Education News,The Indian Express

बता दें कि गुरुवार को दिनभर काव्या के घर बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। मीडिया से बातचीत में काव्या ने कहा कि उन्होंने मार्च सत्र की परीक्षा में हिस्सा लेने से पहले फरवरी सत्र वाली परीक्षा में भी भाग्य आजमाया था। तब उन्हें 99.97 पर्सेंटाइल हुए और इस बार 100 पर्सेंटाइल। काव्या के पिता दिल्ली में इंजीनियर हैं। जेईई मुख्य परीक्षा में इतिहास रचने के बाद अब काव्या दिल्ली या मुम्बई आईआईटी से कंप्यूटर साइंस कोर्स करना चाहती हैं।

lt kiran shekhawat : ये हैं देश की पहली महिला शहीद अफसर ले. किरण शेखावत, 27 की उम्र में यूं कहा अलविदा

काव्या कहती हैं कि फरवरी सत्र में 99.97 पर्सेंटाइल स्कोर करने के बाद उन बिन्दुओं पर अधिक ध्यान देने का प्रयास किया कि जिसमें काव्या के कम अंक आए थे। अपनी गलतियों में सुधार किया और 15 दिन तक अपना पूरा ध्यान केमिस्ट्री विषय पर लगाया और उन टॉपिक्स पर अधिक ध्यान केंद्रित किया, जिन पर पकड़ कमजोर थी।

Kavya Chopra, JEE Main 2021 March Topper, First Girl Topper - Know Her  Result, Target College, Preparation, Coaching

बता दें कि काव्या न केवल पढ़ाई बल्कि खेलों में भी अव्वल है। कई ओलंपियाड क्वालीफाई कर चुकी हैं। इनमें रीजनल मैथ्स ओलंपियाड (RMO), इंडियन जूनियर साइंस ओलंपियाड (INJSO) क्वालीफाई करना शामिल है। इसी के चलते काव्या को जहांगीर भाभा सेंटर, मुंबई में आयोजित एक कैंप में हिस्सा लेने का भी मौका मिला था। काव्या ने दसवीं कक्षा में 97.6 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। काव्या द्वारा ग्यारहवीं कक्षा में नेशनल स्टैंडर्ड एग्जामिनेशन इन एस्ट्रोनॉमी (NSEA) करने के अलावा IQP, IQC और IQM भी क्वालीफाई किया गया।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

Odisha में कोरोना वायरस के रिकार्ड 10,521 नए मामले आए, कुल संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार

भुवनेश्वर | ओडिशा में आज कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus infection) के रिकार्ड 10,521 नये मामले सामने आने के...

More Articles Like This