किन्नरों ने पालाक्कड़ में खोली पहली कैंटीन - Naya India
आज खास| नया इंडिया|

किन्नरों ने पालाक्कड़ में खोली पहली कैंटीन

पालाक्कड़। किन्नर यानी हिजड़ा भारत की पहली ऐसी समुदाय है जिन्हें थर्ड जेंडर का सम्मान प्राप्त हुआ है। किन्नरो का देश में बहुत पुराना इतिहास है लेकिन वे समाज में आज तक उपेक्षित है और उन्हें समाज में वैसा सम्मान नहीं मिलता है जिसके वह हकदार है।

देश में किन्नर समुदाय को सामाजिक और आर्थिक रूप से अपने पैरों पर खड़े करने की एक और पहल केरल में देखने को मिली। जहां किन्नरों द्वारा संचालित पहली कैंटीन खोली गयी।
शुक्रवार को जिले में किन्नरों द्वारा संचालित पहली कैटीन खोली गयी। कुडुम्बश्री मिशन, सामाजिक कल्याण विभाग और जिला पंचायत के समर्थन से किन्नर समूह के 10 सदस्य इस कैंटीन को चला रहे हैं।

अधिकारियों ने समूह को पारंपरिक शाकाहारी भोजन तैयार करने और परोसने के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया। यह कैंटीन सुबह साढ़े नौ बजे से शाम पांच बजे तक लोगों को दो पाली में जनता को भोजन की सेवा देगी। जिला पंचायत ने पलक्कड़ जिले के दस किन्नरों को उनके कल्याण और व्यापार के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कुडुम्बश्री के समूह के ‘अलासकूटम’ (पड़ोस) को 10 लाख रुपये आवंटित किए हैं।

जिला पंचायत अध्यक्ष शांताकुमारी ने कहा कि स्थानीय निकाय सरकार भी किन्नरों के लिए एक आश्रय गृह खोलने की योजना बना रही है और इस उद्देश्य के लिए पंचायत ने उभयलिंगी समुदाय के कल्याण के लिए 10 लाख रुपये निर्धारित किए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow