आज खास | देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट

नीता अंबानी के बीएचयू में विजिटिंग प्रोफेसर के आमत्रंण पर छात्रों का हंगामा, वीसी के आवास का किया घेराव

Varanasi: रिलायंस फाउंडेशन  (Reliance Foundation ) की अध्यक्ष और देश के बड़े बिजनस मैन मुकेश अंबानी  (Mukesh Ambani) की पत्नी को लेकर एक बार फिर से विवाद शुरू हो गया है. इस बार विवाद का कारण  नीता अंबानी (Nita Ambani) को बीएचयू  (BHU) में विजिटिंग प्रोफेसर (Visiting Professor) बनाए जान को लेकर है. बीएचयू का ये प्रस्ताव छात्रों के एक गुट को कुछ खास पसंद नहीं आ रहा है. इस बात को लेकर छात्र काफी समय से अपनी नाराजगी जता रहे हैं.  लेकिन  अब इस  प्रस्ताव के खिलाफ बीएचयू में छात्रों के एक गुट ने कुलपति आवास का घेराव (Vice Chancellor Housing Siege) कर अपना विरोध दर्ज  किया. विरोध कर रहे छात्रों का कहना है कि किसी पूंजीपति की पत्नी होना महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment)  का पैमाना नहीं हो सकता है. छात्रों का आरोप है कि ये सबकुछ निजीकरण को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है. छात्रों ने कहा कि अगर नीता अंबानी बीएचयू आती हैं, तो वे इसका विरोध करते रहेंगे.

भेजा जा चुका है प्रस्ताव

बता दें कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय (Social Science Faculty) द्वारा रिलायंस इंडस्ट्रीज की कार्यकारी निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अम्बानी को विजिटिंग प्रोफेसर बनाने के लिए आमंत्रण प्रस्ताव भेजा गया है. यहां ये स्पष्ट कर दें कि ये प्रस्ताव बीएचयू प्रबंधन की तरफ से नहीं बल्कि एक डिपार्टमेंट की तरफ से भेजा गया है. विवाद के बढ़ने पर डिपार्टमेंट की ओर से जबाव दिया गया है कि ये निर्णय महिला अध्ययन केंद्र में पढ़ रही छात्राओं के लिए लिया गया है. जिससे आने वाले समय में उन्हें सशक्त बनने के लिए प्रेरणा मिल सके.

इसे भी पढ़ें- मानवाधिकार और स्वतंत्रता के ‘चैंपियन’ थे बंगबंधु: मोदी

इसकी कोई जानकारी नहीं है: बीएचयू प्रबंधन

इस पूरे प्रकरण में विवाद बढ़ता देख बीएचयू प्रबंधन (BHU Management) भी बैकफूट में खड़ा दिखाई दिया. इस बाबत जब प्रबंधन से पूछा गया तो उऩ्होंने बताया कि हमें इस विषय में अभी पूरी जानकारी नहीं है. इसके साथ ही बीएचयू ने ये भी साफ कर दिया कि बीएचयू प्रबंधन की ओर से अबतक कोई आमंत्रण नहीं भेजा गया है. अगर किसी डिपार्टमेंट ने व्यक्तिगत तौर पर कुछ भेजा हो तो वह नहीं कह सकते हैं लेकिन फिलहाल बीएचयू की तरफ से नहीं है. हालांकि अखबारों में खबर छपने के बाद छात्रों के प्रदर्शन पर फिलहाल प्रबंधन ने कुछ भी कहने से मना कर दिया.

इसे भी पढ़ें- अजान की आवाज से वीसी की होती थी नींद खराब, डीएम को पत्र लिखकर कि ये शिकायत  

Latest News

देश के सबसे बड़े बैंक में अब ATM से पैसे निकालना हुआ महंगा, अगर आपका खाता है तो जरूर पढ़ें यह नियम
नई दिल्ली |  यदि आप भी देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर हैं तो आपके लिए ये…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लाइफ स्टाइल

देश के सबसे बड़े बैंक में अब ATM से पैसे निकालना हुआ महंगा, अगर आपका खाता है तो जरूर पढ़ें यह नियम

नई दिल्ली |  यदि आप भी देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर हैं तो आपके लिए ये अत्यंत महत्वपूर्ण खबर है। बैंक ने अपने कई जरूरी नियमों में बदलाव किए हैं। स्टेट बैंक की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, नए नियम लागू होने के बाद ATM से Cash Withdrawal और चेकबुक का इस्तेमाल करना महंगा साबित हो सकता है।

सर्विस चार्ज में हुआ बदलाव

1 जुलाई से देश के इस सबसे बड़े बैंक के कई नियमों में बदलाव होने वाला है। दरअसल, बैंक इंडिया ने अपने ATM और बैंक ब्रांच से पैसे निकालने के सर्विस चार्ज में फेरबदल कर दिया है। SBI की आधिकारिक वेबसाइट पर ये जानकारी दी गई। इसके मुताबिक नए चार्ज, ट्रांसफर और अन्य नॉन-फाइनेंशियल लेन-देन पर लागू किए जाएंगे। बैंक के अनुसार नए सर्विस चार्ज 1 जुलाई, 2021 से SBI बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों पर लागू होंगे।

एटीएम से कैश निकालना भी हुआ महंगा

SBI के BSBD कस्टमर को चार बार फ्री कैश निकालने की सुविधा रहती है। फ्री लिमिट खत्म होने के बाद बैंक ग्राहकों से चार्ज वसूलता है। लेकिन १ जुलाई के बाद,  ATM से नकद निकासी पर बैंक 15 रुपए के साथ जीएसटी चार्ज भी वसूल किया जाता है। कोरोना संकट के चलते स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने खाताधारकों को राहत देते हुए कैश निकालने की सीमा को बढ़ा दिया है। ग्राहक अपने बचत खाते से दूसरी ब्रांच में जाकर विड्रॉल फॉर्म के जरिए 25,000 रुपए तक निकाल सकेंगे और चेक से दूसरी ब्रांच में जाकर भी 1 लाख रुपए तक निकाले जा सकते है।

स्टेट बैंक के सर्विस चार्ज में ये बदलाव

गौरतलब है कि SBI BSBD खाता होल्डर्स को एक फाइनेंशियल ईयर में 10 चेक की कॉपी दी जाती है। अब नए नियम के अनुसार, अब 10 चेक वाली चेकबुक पर ग्राहक को शुल्क देना होगा। अब BSBD बैंक खाताधारकों को 10 चेक लीव के लिए 40 रुपए के साथ GST चार्ज देना होगा, वहीं 25 चेक लीव के लिए 75 रुपए और GST चार्ज देना होगा। इमरजेंसी चेकबुक की 10 लीव के लिए 50 रुपए प्लस GST का भुगतान करना होगा। हालांकि बैंक ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए चेकबुक पर नए सर्विस चार्ज से छूट दी है।

Latest News

aaदेश के सबसे बड़े बैंक में अब ATM से पैसे निकालना हुआ महंगा, अगर आपका खाता है तो जरूर पढ़ें यह नियम
नई दिल्ली |  यदि आप भी देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर हैं तो आपके लिए ये…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *