nayaindia Lakhimpur Khiri Varun Gandhi : लखीमपुर खीरी पर सरकार को घेरने की मिली...
आज खास| नया इंडिया| Lakhimpur Khiri Varun Gandhi : लखीमपुर खीरी पर सरकार को घेरने की मिली...

लखीमपुर खीरी पर सरकार को घेरने की मिली वरूण गांधी को सजा, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की Super 80 से हुए बाहर…

Lakhimpur Khiri Varun Gandhi :

नई दिल्ली | Lakhimpur Khiri Varun Gandhi : लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले में देश भर में राजनीति गरमाई हुई है. सर्वोच्च न्यायालय ने भी इस संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट मांगी है. इन सबके बीच भाजपा ने अपने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की नई लिस्ट जारी कर दी है. भाजपा की लिस्ट में वरुण गांधी और उनकी मां मेनका गांधी को स्थान नहीं मिला है. इसका मतलब साफ है कि हाल के दिनों में वरुण गांधी द्वारा लखीमपुर खीरी के संबंध में दिए गए बयानों और किसानों के सपोर्ट में योगी आदित्यनाथ को घेरने की सजा दी गई है. माना जा रहा है कि आने वाले समय में भी वरुण गांधी को यह बगावती तेवर दिखाना महंगा पड़ने वाला है. यहां बता दें कि किसी भी पार्टी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी में 80 सदस्य होते हैं. इन्हें पार्टी के आंतरिक और बाहरी मामलों में फैसले लेने का अधिकार दिया जाता है.

आज सुबह भी क्या थे ये ट्वीट

Lakhimpur Khiri Varun Gandhi : बता दें कि गुरुवार की सुबह ही भाजपा सांसद वरुण गांधी ने लखीमपुर खीरी का कथित वीडियो अपलोड किया जिसके बाद उन्होंने कहा कि वीडियो बिल्कुल साफ है. उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों की हत्या कर चुपचाप नहीं रहा जा सकता. उन्होंने कहा कि किसान के खून की हर एक बूंद की जिम्मेवारी होनी चाहिए अहंकार भय और क्रूरता से बैठने से पहले किसानों को न्याय मिलना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- पहलवान अंशु मलिक ने रचा इतिहास, विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश करने वाली पहली भारतीय महिला बनीं

लगातार घेर रहे थे सरकार को

Lakhimpur Khiri Varun Gandhi : बीते कुछ महीनों से लगातार वरुण गांधी अपनी पार्टी को घेरने का प्रयास कर रहे थे. वही लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद भी वरुण गांधी ने बगावती तेवर दिखाए और एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार को घेरना शुरू कर दिया. एक और जहां भाजपा के कई नेता इस मामले में कुछ भी बोलने से बच कर देख रहे थे वही वरुण गांधी खुलकर सोशल मीडिया में इस संबंध में लिख रहे थे. कुछ दिनों पहले वरुण गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा था जिसमें उन्होंने किसानों को दिए जा रहे गन्ने की कीमत को बढ़ाने की अपील की थी.

इसे भी पढ़ें-उत्तराखंड में PM Modi ने देश को दी 35 ऑक्सीजन प्लांट की सौगात, कहा- कोरोना काल में देश ने युद्धस्तर पर किया काम

Leave a comment

Your email address will not be published.

1 + 17 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आशा पारेख को फाल्के पुरस्कार
आशा पारेख को फाल्के पुरस्कार