• डाउनलोड ऐप
Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
spot_img

अजान की आवाज से वीसी की होती थी नींद खराब, डीएम को पत्र लिखकर की ये शिकायत  

Must Read

Prayagraj: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी  (Allahabad University) की  VC  द्वारा अजान के खिलाफ आवाज उठान के बाद एक बार फिर से सोशल मीडिया  (Social Media) में अजान को लेकर बवाल शुरु हो गया है. हालांकि ये कोई नया मामला नहीं है जब देश में अजान की आवाज से बवाल शुरु हुआ है. इसके पहले अजान की आवाज का विरोध करने वाले मशहूर गायक सोनू निगम थे. जिनके लाउडस्पीकर पर अजान न बजाने की अपील के बाद से काफी बवाल हुआ था. अब एक बार फिर अजान पर बवाल शुरु होने की वजह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की वीसी हैं. जिन्होंने प्रयागराज (Prayagraj) के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि अहले सुबह मस्जिद की लाउडस्पीकर (loudspeaker of the mosque) से आने वाली अजान की आवाज से उनकी नींद खराब होती है. इससे उनके दिनचर्या पर फर्क पड़ता है. इसके बाद से एक बार फिर से अजान की आवाज पर हंगामा शुरु हो गया है. कोई वीसी के इसे को पूरी तरह से सही माना रहा है तो कई ऐसे भी लोग हैं जो इसे एक पब्लिसिटी स्टंट भर मान रहा है.

क्या कहा वीसी ने

इस पूरे प्रकरण में वीसी प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव (Sangeeta Srivastava)  ने कहा कि मैं किसी भी धर्म के खिलाफ नहीं हुं. डीएम कहती है कि  ये एक पुरानी कहावत है कि आपकी स्वतंत्रता (Independence) वहीं खत्म होती है जहां मेरी नाक शुरू होती है. यह कहावत मेरे मामले में सटीक बैठती है. उन्होंने कहा कि अजान बिना लाउडस्पीकर के भी की जा सकती है जिससे दूसरे लोगों को परेशानी और दिनचर्या प्रभावित न हो.

इसे भी पढ़ें-  हिमाचल सांसद रामस्वरूप का शव संदिग्ध अवस्था में बरामद, आत्महत्या का अंदेशा

सब चाहते हैं शांति

प्रोफेसर कहती हैं कि अब भारत में पहले वाली बात नहीं है. उन्होंने कहा कि अब लोग सबकुछ समझने लगे हैं और सभी धर्मों के लोग शांति से रहना चाहते हैं. प्रोफेसर कहती हैं कि  ईद से पहले वह सहरी ऐलान करने लगेंग जो सुबह चार बजे होती है. इस तरह की चीजें लोगों को डिस्टर्ब करती हैं. भारत का संविधान (Constitution of India) हर समुदाय के लिए सांप्रदायिक और शांतिपूर्ण रहने का प्रावधान करता है. लोग शांति से रहना भी चाहते हैं.

कार्रवाई की होगी प्रशंसा- वीसी

वीसी ने डीएम को इलाहाबाद (Allahabad)  में दायर की गई पीआईएल नंबर-570 ऑफिस 2020 के आदेश का भी हवाला दिया. उन्होंने कहा कि  DM की त्वरित कार्रवाई की बड़े स्तर पर सराहना की जाएगी . इस तेज आवाज से और भी प्रभावित लोगों को शांति मिलेगी.

इसे भी पढें-  भारत, बांग्लादेश में जल संसाधन पर सहयोग के लिए बनी सहमति

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कांग्रेस के प्रति शिव सेना का सद्भाव

भारत की राजनीति में अक्सर दिलचस्प चीजें देखने को मिलती रहती हैं। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में...

More Articles Like This