आप भी जानें,  कौन सी  5 बातें बंगाल में भाजपा को कर सकती है सत्ता से दूर - Naya India
आज खास | ताजा पोस्ट | देश | पश्चिम बंगाल| नया इंडिया|

आप भी जानें,  कौन सी  5 बातें बंगाल में भाजपा को कर सकती है सत्ता से दूर

Kolkata: बंगाल चुनाव (Bengal elections) में देश भर की निगाहें टिकी हैं. खासकर ममता बनर्जी (Mamta Banerjee)  की चोट के बाद से तो जैसे राजनीतिक हवाओं (political winds) का रूख ही बदल गया है. ममता बनर्जी के चोट लगने के पहले जहां भाजपा मजबूत होती दिख रही थी वहीं एक बार फिर से अब भाजपा (BJP) के खामियां पर लोगों मे चर्चा शुरु कर दी है. इसके साथ ही ममता की यूं व्हीलचेयर पर प्रचार के लिए निकलना और सीधे तौर पर  भाजपा के शीर्ष नेताओं पर हमला करना बंगाल की जनता को खासा पसंद आ रहा है. वहीं शाह और भाजपा के नेताओं की रैली में भी लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है. आज भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) बंगाल में 3 रैलियों को संबोधित करना जा रहे हैं. वहीं दीदी की पलटन भी एक के बाद एक रैलियों कर रही है. आइए जानें वो कौन सी 5 मुख्य बाते हैं जो भाजपा के लिए आने वाले समय में सरदर्द बन सकती है.

1) बिना दुल्हे की बारात का दांव

बंगाल में भाजपा एक बार फिर से दुल्हे के बिना ही बारात निकालने की कोशिश की है. हालांकि इससे पहले जब भी भाजपा ने ये दांव खेला है, इससे उन्हें सफलता ही मिली है. यूपी (up) में विस चुनाव के पहले लोगों को ये पता नहीं था कि भाजपा के चुनाव जीतने के बाद उनका सीएम कौन बनेगा. इसके अलावे भी ऐसे कई उदाहरण दिखते हैं जिसमें भाजपा का प्रयास होता है कि वो अपने सीएम (cm) का सस्पेंस (suspense) बनाए रखे. अब भाजपा के ये दाव बंगाल में कितना काम करता है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

2) मोदी मैजिक पर एक बार फिर से भरोसा

बंगाल की जनता के बारे में माना जाता है कि यहां के लोग काफी सोच-समझ कर मतदान करते हैं. ऐसे में भाजपा भी इस बात से अनजान नहीं है कि यहां मोदी मैजिक (Modi magic) के चलने की एक सीमा है. इके पीछे कारण है कि बंगाल में हमेशा से ही एक भद्रपुरुष की तलाश होती है. बंगाल के लोग इस बात को अच्छे से समझते हैं कि पीएम मोदी तो यहां के सीएम हो नहीं सकते हैं. ऐसे में वे किसे देख कर वोट करें इस बात का नुकसान भाजपा को हो सकता है.

इसे भी पढ़ें- सदन में विधायक के टी-शर्ट पहनकर आने से नाराज हुए विधानसभा अध्यक्ष, कह दिया गेट आउट !

3) तोड़ मोड़ कर पार्टी तो तैयार लेकिम जोड़े रखना आसान नहीं

इसमें कोई शक नहीं है कि पिछले कुछ सालों में भाजपा ने बंगाल में अपनी पकड़ बना ली है. बंगाल के ही पिछले विस चुनाव में भाजपा को मात्र 3 सीटों में जीत मिली थी. लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव के परिणामों को देखते हुए भाजपा काफी एक्साइटेड (excited) है. टीएमसी के साथ ही बाहर के नेताओं को जोड़कर भाजपा ने बंगाल में अपनी पार्टी को मजबूत करने की कोशिश तो की है लेकिन इन्हें जोड़े रखना और सबको खुश रखना इतना आसान नहीं होने वाला है.

इसे भी पढ़ें- रात में चलनी वाली ट्रेनों का बढ़ेगा किराया ! जानें सच

4) दीदी का व्हीलचेयर कर रहा परेशान

बंगाल चुनाव के आखिरी समय में ममता दीदी के व्हीलचेयर में प्रचार करने का असर बंगाल के लोगों पर निश्चय ही पड़ने वाला है. इसके साथ ही दीदी ने प्रचार के साथ ही कुछ ऐसा भी किया है जो वे सत्ता में रहने के दौरान करने से बचती रहीं है. जी हां हम बात कर रहे हैं दीदी के सौफ्ट हिंदूत्व  (soft Hinduism ) की. दीदी का ये अवतार बंगाल के लोगों को कितना पसंद आएगा ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन भाजपा के लिए ये एक सर दर्द जरूर साबित हो सकता है.

5) बाकी कुछ बचा तो महंगाई मार जाएगी

इसमें कोई शक नहीं है कि बढ़ती महंगाई से लोग परेशान हैं. खासकर पेट्रोल-़डीजल के बढ़े हुए दाम लोगों को परेशान कर रहे हैं. ऐसे में ये कहना कि इसका कोई असर बंगाल के चुनाव में नहीं दिखने वाला है, गलत होगा. टीएमसी (TMC)  के साथ ही कांग्रेस (CONGRESS) और लेफ्ट (LEFT) भी लगातार भाजपा (BJP) को महंगाई पर घेरने का प्रयास कर रहे हैं,

इसे भी पढ़ें- भारत और इंग्लैंड के बीच शेष तीन टी-20 दर्शकों के बिना खेले जाएंगे

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *