धार्मिक मान्यताओं में दखल देने के खतरे

सर्वोच्च अदालत ने सबरीमाला मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश की मंजूरी के अपने…

पर्यावरणः ज्यों-ज्यों दवा की, मर्ज़ बढ़ता गया

उत्तर भारत दमघोंटू गैस चैंबर में परिवर्तित हो गया है। इससे बचने के लिए स्थानीय लोग…

सियासत में नए वसंतागमन की आहट

53 साल पहले बाला साहब ठाकरे ने शिवसेना की स्थापना करते वक़्त भले ही यह नहीं…

सीमित पारदर्शिता भी अच्छी शुरुआत

अदालती कार्यवाही में पारदर्शिता को लेकर बहुत दिन से सवाल उठ रहे थे। देश की सर्वोच्च…

गठबंधन के नियम बनाने का समय

ऐसा लग रहा है कि चार दशक पहले जिस तरह से पार्टी में टूट फूट रोकने…

महाराष्ट्र में कांग्रेस मौका गंवा रही

महाराष्ट्र में कांग्रेस जो कर रही है वह सही है या गलत? इस सवाल का दो…

भाजपा का अपने एजेंडे पर लौटना

भारतीय जनता पार्टी दूसरी बार सरकार में आने के बाद बुनियादी एजेंडे पर लौटी है। यह…

दूरदर्शिता से सौहार्द की विजय

अयोध्या के श्रीराम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के एतिहासिक फैसले के बाद देश के लोग…

शिवसेना-कांग्रेस में छूआछूत खत्म?

शायद भाजपा आलाकमान को समझ नहीं आ रहा कि उसके साथ हुआ क्या| जबकि काठ की…

जितनी पुरानी आस्था, उतना मजबूत दावा

अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के भूमि विवाद में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले…

उद्धव ने आडवाणी को याद किया

सुप्रीम कोर्ट ने सुन्नी वक्फ बोर्ड के दावे को खारिज कर के श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के…

नगलागढ़ू के रामेश्वर ताऊ

आधी सदी बीतने को है, जब हमारे नगलागढ़ू में एक रामेश्वर ताऊ अपने पूरे जलवे-जलाल पर…