भारत ने पाक की पोल खोली

हेग। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मुकदमे में पाकिस्तान में हुई सुनवाई की हकीकत भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत को बताई है। भारत ने पाकिस्तान की पोल खोलते हुए कहा कि जाधव मामले की सुनवाई में न्याय प्रक्रिया के न्यूनतम मानकों का भी पालन नहीं किया गया। भारत ने पाकिस्तान में जाधव के मुकदमे को गैरकानूनी घोषित करने को कहा। भारत ने यह भी कहा कि जाधव मामले की सुनवाई करने वाली सैन्य अदालत के जज कानूनी रूप से प्रशिक्षित भी नहीं होते और उनके पास कानून की डिग्री होनी भी जरूरी नहीं होती है। 

भारत ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तानी सैन्य अदालत में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर चलाया गया मुकदमा कानूनी प्रक्रिया के न्यूनतम मानकों को भी पूरा करने में नाकाम रहा और इसलिए अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत, आईसीजे को उस मुकदमे को गैरकानूनी घोषित करना चाहिए। गौरतलब है कि भारतीय नागरिक जाधव को जासूसी के आरोप में एक पाकिस्तानी सैन्य अदालत में मौत की सजा सुनाने के मामले में चार दिन की सार्वजनिक सुनवाई सोमवार को संयुक्त राष्ट्र अदालत में शुरू हुई।

भारत ने सुनवाई के पहले दिन दो मूल मुद्दों के आधार पर अपना पक्ष रखा, जिनमें राजनयिक संपर्क पर वियना संधि का उल्लंघन शामिल है। भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे पूर्व सॉलिसीटर जनरल हरीश साल्वे ने कहा- यह ऐसा दुर्भाग्यपूर्ण मामला है, जहां एक निर्दोष भारतीय की जिंदगी दांव पर है। उन्होंने कहा - ‘पाकिस्तान का पक्ष पूरी तरह से जुमलों पर आधारित है, तथ्यों पर नहीं।

हरीश साल्वे ने कहा कि राजनयिक संपर्क के बिना जाधव को लगातार हिरासत में रखने को गैरकानूनी घोषित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सैन्य अदालत में जाधव पर चलाया गया मुकदमा कानूनी प्रक्रिया के न्यूनतम मानकों को भी पूरा करने में नाकाम रहा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के किसी कृत्य में जाधव के शामिल होने के विश्वसनीय सबूत नहीं दिए और जाधव का कथित कबूलनामा स्पष्ट रूप से दबाव में दिया गया बयान नजर आता है।

साल्वे ने कहा- इसमें कोई संदेह नहीं कि पाकिस्तान इसका इस्तेमाल दुष्प्रचार के लिए कर रहा है। पाकिस्तान को बिना देरी राजनयिक संपर्क की अनुमति देनी चाहिए थी। उन्होंने कहा- पाकिस्तान ने कबूलनामा दस्तावेज को दुष्प्रचार के लिए इस्तेमाल किया। पाकिस्तान ने वियना संधि का उल्लंघन किया है। साल्वे ने कहा कि भारत ने जाधव को राजनयिक से मिलने देने के लिए पाकिस्तान को 13 रिमाइंडर भेजे हैं लेकिन इस्लामाबाद ने अब तक इसकी अनुमति नहीं दी है।

101 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।