Loading... Please wait...

लक्ष्य सेन ने 53 साल बाद दिलाया गोल्ड

नई दिल्ली। भारत के उभरते हुए बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने एशियाई जूनियर चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला जीत लिया है। एशियाई मुकाबले में जूनियर स्तर पर पुरुषों के मुकाबले में भारत को 53 साल के बाद स्वर्ण पदक मिला है। जकार्ता में हुए एशियाई जूनियर चैंपियन के फाइनल में लक्ष्य ने मौजूदा जूनियर विश्व चैंपियन थाईलैंड के कुनलावुत वितिदसर्न को रविवार को सीधे गेम में हरा कर यह खिताब जीता। वे यह खिताब जीतने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बने। उनको भारतीय बैडमिंटन संघ दस लाख रुपए का नकद पुरस्कार देगा।

छठी वरीयता प्राप्त उत्तराखंड के लक्ष्य ने नंबर एक वरीयता वाले वितिदसर्न को 46 मिनट तक चले करीबी मुकाबले में 21-19, 21-18 से शिकस्त देकर उलटफेर किया। लक्ष्य ने पिछले साल इस टूर्नामेंट में कांस्य पदक जीता था। जीत के बाद लक्ष्य ने कहा - मैं यह टूर्नामेंट जीत कर खुश हूं। इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ेगा। मैं टीम स्पर्धा में खेला और फिर व्यक्तिगत स्पर्धा में इसलिए मेरे लिए यह लंबा टूर्नामेंट रहा। हर मैच के बाद मेरा ध्यान थकान से उबरने पर था। मैं खुश हूं कि अच्छा खेल सका और जीत दर्ज कर सका।

लक्ष्य से पहले दिवंगत गौतम ठक्कर ने 1965 में जूनियर मुकाबले का स्वर्ण जीता था। ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू ने 2012 ने महिलाओं का मुकाबला जीता था। सिंधू ने इसमें 2011 में कांस्य पदक भी अपने नाम किया था। समीर वर्मा ने पुरुषों के मुकाबले में 2011 और 2012 में रजत और कांस्य पदक जीता था। प्रणव चोपड़ा और प्राजक्ता सावंत की जोड़ी 2009 में कांस्य पदक जीतने में सफल रही थी।

बहरहाल, लक्ष्य ने टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए दूसरी वरीयता प्राप्त चीन के ली शिफेंग को मात देने के बाद सेमीफाइनल में चौथी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी इंडोनेशिया के इखसान लियोनार्डो इमैन्युअल रूम्बे को शिकस्त दी। लक्ष्य सेन के कोच संजय मिश्रा ने इस जीत पर कहा- कोई भी टूर्नामेंट जीतना बड़ी बात होती है और उसने ऐसे टूर्नामेंट में स्वर्ण जीता जहां दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी खेल रहे थे। हमें पता है एशिया बैडमिंटन का केंद्र है और एशियाई खिताब जीतने से उसका मनोबल काफी बढ़ेगा।

518 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2018 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech