सल्तनत और संविधान की लड़ाई: मोदी

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के 2019 के लोकसभा चुनाव को पानीपत की तीसरी लड़ाई जैसा बताने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसे आगे बढ़ाते हुए कहा कि लड़ाई सल्तनत बनाम संविधान की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सल्तनत बचाने के लिए डरी हुई है, जबकि भारतीय जनता पार्टी बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के संविधान को मानती है और उसी के अनुसार चलने वाली पार्टी है। भाजपा की दो दिन की राष्ट्रीय परिषद की बैठक के समापन भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पार्टी के साथ साथ सोनिया और राहुल गांधी पर भी जोरदार हमला किया और दोहराया कि दोनों जमानत पर घूम रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कई राज्यों में सीबीआई पर पाबंदी लगाने का मुद्दा उठाया और कहा कि वे 12 साल तक सीबीआई का सामना करते रहे थे। मोदी ने कहा – आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ ने सीबीआई पर पाबंदी लगा दी है। आखिर इन राज्यों को सीबीआई से डर क्यों लग रहा है। मोदी ने कहा कि जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो 12 साल तक लगातार कांग्रेस पार्टी के नेताओं, उनके साथियों और उनके रिमोट पर काम करने वाले अधिकारी और उनकी सल्तनत हर तरीके से परेशान करने में लगी थी।

मोदी ने कहा - 2007 में एक नेता गुजरात आए थे और कहा था कि मोदी अगले कुछ महीने बाद जेल जाएगा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को तो जेल में डाल भी दिया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में उन्हें इतने नोटिस भेजे गए, लेकिन उन्हें कानून पर पूरा विश्वास था। गुजरात दंगों को लेकर बनी एसआईटी ने मुख्यमंत्री रहने के बावजूद नौ घंटे तक पूछताछ की थी। उन्होंने कहा- हम कुछ भी हों, पर कानून हमसे बड़ा है। मुझे सत्य पर भरोसा है और कानून पर विश्वास है।

उन्होंने नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के जमानत पर होने का जिक्र करते हुए कहा- जमानत पर बाहर घूमने वाले इन नेताओं को न कानून पर विश्वास है, न सत्य पर भरोसा है, और न ही इनको संस्थानों पर विश्वास है। इनको राजशाही पर भरोसा है, लेकिन हम लोकशाही को मनाने वाले लोग हैं। सीबीआई के दुरूपयोग के आरोपों का जवाब देते हुए मोदी ने कहा - जिस तरह से तब सीबीआई का एक मात्र एजेंडा उन्हें फंसाना था, वैसा अब हम भी कर सकते थे। लेकिन, हम कानून व संविधान का सम्मान करने वाले लोग हैं। दूसरी ओर अपने ही कारनामों से डरे हुए लोग हैं।

 

मजबूर और मजबूत सरकार का चुनाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की दो दिन की बैठक में कांग्रेस और दूसरी विपक्षी पार्टियों पर जम कर निशाना साधा और अपनी सरकार के कामकाज की तारीफ की। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे और भाजपा देश के लिए मजबूत सरकार चाहते हैं, जबकि विपक्षी पार्टियां मजबूर सरकार बनाने के लिए गठबंधन कर रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार पांच साल पूरे करने जा रही है पर सरकार के ऊपर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने महागठबंधन को भारतीय राजनीति का असफल प्रयास बताते हुए शनिवार को कहा - वे मजबूर सरकार चाहते हैं, हम मजबूत सरकार चाहते हैं। मोदी ने रामलीला मैदान में राष्ट्रीय परिषद के समापन भाषण में कहा - भारतीय राजनीति के असफल प्रयास को महागठबंधन के नाम से प्रचारित करने का प्रयास किया जा रहा है। वे दल कांग्रेस के साथ आ रहे जो कभी कांग्रेस विरोध के नाम पर बने थे। जो एक जमाने में कांग्रेस के तौर तरीकों को सही नहीं मानते थे वो आज एकजुट हो रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस और उसके नेतृत्व वाली पिछली यूपीए सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए अपनी पीठ थपथपाई और दावा किया कि उनकी सरकार पूरी तरह बेदाग है और उस पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है। मोदी ने कहा- देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है। हम इस बात पर गर्व कर सकते हैं। भाजपा सरकार के कार्यकाल ने ये साबित किया है कि देश सामान्य नागरिक के हित में बदल सकता है, सरकार बिना भ्रष्टाचार के भी चलाई जा सकती है और सत्ता के गलियारों में टलहने वाले दलालों को भी बाहर किया जा सकता है।

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा - अगर मैं कहूं कि भारत ने 2004 से 2014 के महत्वपूर्ण दस साल, घोटालों और भ्रष्टाचार के आरोपों में गंवा दिए, तो गलत नहीं होगा। 21वीं सदी की शुरुआत में ये दस वर्ष बहुत महत्वपूर्ण थे। यूपीए सरकार पर घोटालों के आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार पहली बार किसी हथियार सौदे के बिचौलिए को पकड़ कर देश में लाई है। इस बिचौलिए से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि राफेल विमान सौदे में यूपीए सरकार इसलिए देरी कर रही थी कि यहीं बिचौलिया राफेल की बजाय किसी दूसरी कंपनी से लड़ाकू विमान खरीदवाना चाहता था।

123 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।