मिशेल की हिरासत पांच दिन बढ़ी

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदा मामले में कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल की हिरासत अवधि को पांच दिन और बढ़ा दिया ताकि सीबीआई हिरासत में उससे पूछताछ कर सके। पहले दी गई पांच दिन की सीबीआई रिमांड खत्म होने पर उसे विशेष सीबीआई न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष पेश किया गया था।

जांच एजेंसी ने हिरासत में पूछताछ के लिये अदालत से यह कहते हुए मिशेल की नौ दिनों की रिमांड मांगी थी कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहा।

मिशेल के वकील ने हिरासत बढ़ाने की याचिका का विरोध करते हुए कहा कि इसकी जरूरत नहीं है क्योंकि अब तक उन्हें कोई भी संदिग्ध साक्ष्य नहीं दिखाया गया है। इस बीच मिशेल ने जमानत के लिये पूर्व में दी गई अपनी याचिका को वापस ले लिया और नए सिरे से विस्तृत जमानत याचिका दायर की। ब्रिटेन के नागरिक मिशेल को चार दिसंबर की रात मामले के संबंध में यूएई से प्रत्यर्पण के बाद भारत लाया गया था। उसे बाद में अदालत के समक्ष पेश किया गया जिसने उसे सीबीआई पूछताछ के लिये पांच दिन की हिरासत में भेज दिया था।

अदालत ने सीबीआई से कहा कि वह आरोप पत्र समेत सभी प्रासंगिक दस्तावेज मिशेल को दिखाए। मिशेल की पेशी से पूर्व पटियाला हाउस कोर्ट में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई थी। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि केरिपुब के 15-20 जवानों के अलावा दिल्ली पुलिस के 30 जवानों को भी अदालत परिसर में तैनात किया गया था। इस दौरान महिला पुलिसकर्मियों की भी तैनाती थी।

इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई द्वारा जिन तीन बिचौलियों की जांच की जा रही है उनमें मिशेल एक है। उसके अलावा गुइदो हश्के और कार्लो गेरोसा भी शामिल हैं। उसके खिलाफ अदालत द्वारा गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद दोनों ही एजेंसियों ने इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने को कहा था। मिशेल ने आरोपों से इनकार किया है।

सीबीआई का आरोप है कि वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति के लिये आठ फरवरी 2010 को हुए इस करार से सरकारी खजाने को करीब 2666 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। प्रवर्तन निदेशालय ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ अपने आरोप-पत्र में कहा कि उसे 12 हेलीकॉप्टरों के इस सौदे के लिये अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये की दलाली मिली।

204 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।