बड़ी बात मूर्तियां बनाना!

सवाल है कि भाजपा और मौजूदा केंद्र सरकार की नजर में बड़ी बात क्या है? बड़ी बात बड़ी मूर्तियों और बड़े मंदिरों का बनना है! यह बड़ी बात इसलिए है क्योंकि ऐसा पहले किसी ने नहीं किया है। तभी केंद्र से लेकर राज्यों तक में भाजपा की सरकारें बड़ी-बड़ी मूर्तियां बनाने का ऐलान कर रही हैं। एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरुआत करके रास्ता दिखा दिया। इससे सारे नेता समझ गए कि बड़ा काम यहीं होता है। सो, वे बड़े काम करने में लगे हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ऐलान किया है कि पांच एकड़ जमीन में भारत माता का मंदिर बनेगा। उनको लगा होगा कि सिर्फ भारत माता की जय बोलने से काम नहीं चलेगा। इसलिए वे भारत माता का मंदिर बनाएंगे। इसमें भारत माता की मूर्ति भी बनेगी और उसके जरिए एक एक नागरिक के मन में देशभक्ति की भावना भरी जाएगी। ऐसे ही अगर जगह जगह खास कर जेएनयू जैसे संस्थानों में सरस्वती की बड़ी बड़ी मूर्तियां बनवा दी जाएं तो शायद ज्ञान, विद्या, कला, संस्कृति आदि का भी प्रवाह छात्रों में होने लगेगा।

बहरहाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरयू के किनारे भगवान राम की भव्य मूर्ति बनवाने का ऐलान किया है। यह मूर्ति 221 मीटर ऊंची होगी। यानी नरेंद्र मोदी ने अपने आदर्श सरदार वल्लभ भाई पटेल की जो मूर्ति बनवाई उससे बहुत ऊंची। गुजरात में नर्मदा के किनारे केवड़िया में बनी सरदार पटेल की मूर्ति दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है। यह 182 मीटर ऊंची है और उस पर करीब तीन हजार करोड़ रुपए खर्च हुए। पर जल्दी ही इसका रिकार्ड टूटने वाला है। सरयू के किनारे भगवान राम की 221 मीटर ऊंची मूर्ति बनेगी, जिसमें मूर्ति 151 मीटर की होगी, उसका आधार 50 मीटर ऊंचा होगा और मूर्ति के ऊपर 20 मीटर ऊंचा छत्र लगेगा। यह मूर्ति बनने के तुरंत बाद कम से कम उत्तर प्रदेश में राम राज बहाल हो जाएगा। वैसे उत्तर प्रदेश में निषादराज की भी एक बड़ी मूर्ति बनने वाली है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में भव्य राम मंदिर का भी निर्माण होने वाला है। जिस तरह ऊंची मूर्तियों का रिकार्ड तोड़ा जा रहा है उसी तरह सबसे बड़े मंदिर का रिकार्ड भी टूटेगा। कहा जा रहा है कि कंबोडिया के अंकोरवाट में बने दुनिया के सबसे बड़े मंदिर से भी बड़ा मंदिर अयोध्या में श्री राम का बनेगा। कहां तो दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति और दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर बनाने की बात हो रही है और कहां कुछ टुच्चे किस्म के लोग बलात्कार पीड़ित युवती को जिंदा जला दिए जाने की घटना को बड़ी घटना बताने में लगे हैं!

बहरहाल, उधर महाराष्ट्र में छत्रपति शिवाजी महाराज की एक विशाल मूर्ति बनने वाली है। दक्षिण मुंबई के इलाके में बड़ी चौपाटी के पास यह समुद्र में यह मूर्ति बनेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए भूमि पूजन किया था। तब महाराष्ट्र में शिव सेना के साथ उनकी सरकार थी। अब शिव सेना की सरकार कांग्रेस और एनसीपी के साथ है। तब भी शिवाजी की मूर्ति तो बनेगी ही। इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने ऐलान किया है कि वे अपने यहां माता सीता की एक भव्य मूर्ति बनवाएंगे। उनको भी लग रहा होगा कि राम राज सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही क्यों आए। सो, वे भी एक विशाल मूर्ति बनवाएंगे।

असली बड़ी बातें ये होती हैं कि दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति भारत में है और दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर भारत में है। दुनिया की दो सौ बेहतरीन यूनिवर्सिटी में हमारी कोई यूनिवर्सिटी नहीं है तो यह कौन सी बड़ी बात हुई! भूख और कुपोषण के मामले में हम पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ्रीका व लैटिन अमेरिकी देशों से भी गए गुजरे हैं तो इसमें क्या बड़ी बात हो गई! मानवाधिकार, धार्मिक स्वतंत्रता आदि के मानकों पर हम दुनिया के सबसे निचले पायदान वाले देशों में हैं तो इसमें भी कोई बात नहीं है! कंपनियों के लिए प्रतिस्पर्धी माहौल बनाने में हम पिछड़ते जा रहे हैं तो यह भी कोई बड़ी बात नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares