ऑक्सीजन रूकने से 24 की मौत - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

ऑक्सीजन रूकने से 24 की मौत

नासिक। महाराष्ट्र में नासिक के सरकारी जाकिर हुसैन अस्पताल में बुधवार को एक बड़ा हादसा हो गया। अस्पताल के गेट पर ऑक्सीजन का टैंकर लीक हो गया, जिसकी वजह से अस्पताल के अंदर ऑक्सीजन की आपूर्ति रोकनी पड़ी और इस दौरान ऑक्सीजन की कमी से 24 मरीजों की मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति आधे घंटे के लिए रोकी गई थी, लेकिन अनेक मरीजों के परिजनों ने कहा कि आपूर्ति दो घंटे तक रूकी रही और इस दौरान 24 मरीजों ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ा। करीब 33 मरीजों की हालत अब भी चिंताजनक है।

नासिक के कलेक्टर सूरज मांढरे ने नगर निगम के अस्पताल में हुए इस हादसे में 24 लोगों की मौत की पुष्टि की है। बताया गया है कि जब ऑक्सीजन सप्लाई रोकी गई, उस समय 171 मरीज ऑक्सीजन पर और 67 मरीज वेंटीलेटर पर थे। ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। खबरों के मुताबिक, टैंक से आने वाले सप्लाई पाइप में लीकेज हुआ था, जिसकी वजह से 20 किलो लिक्विड ऑक्सीजन बरबाद हुई।

हादसे के बाद अस्पताल के साथ जिला प्रशासन ने भी इस लीकेज की जांच शुरू कर दी है। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि ऑक्सीजन टैंकर में लीक की गड़बड़ी सुधारने के लिए आधे घंटे तक ऑक्सीजन की सप्लाई रोकी गई थी, लेकिन परिजनों का कहना है कि सप्लाई आधे घंटे नहीं, बल्कि दो घंटे तक बंद थी। इस दौरान मरीजों के परिजन अस्पताल प्रशासन को मरीजों की स्थिति के बारे में बताते रहे, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे हादसे की पुष्टि करते हुए बताया कि वॉल्व में लीकेज हुआ था। इससे ऑक्सीजन सप्लाई रुकी। जिन मरीजों की मौत हुई, उनमें वेंटिलेटर पर मौजूद 11 मरीज भी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि 11 महिलाओं और 11 पुरुषों की जान हादसे में गई है। सभी कोरोना मरीज थे। इस घटना की जांच शुरू हो गई है। इसके लिए आईएएस अधिकारी, इंजीनियर, एक सीनियर डॉक्टर की टीम को जिम्मा सौंपा गया है। उन्होंने बताया कि जो कंपनी अस्पताल में ऑक्सीजन भरने का काम करती है, वह जापान की एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है और कई साल से ऑक्सीजन सप्लाई कर रही थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *