बिहार चुनाव तक मुफ्त अनाज

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब परिवारों को मुफ्त राशन देने की योजना को नवंबर तक बढ़ाने का ऐलान किया है। मंगलवार को शाम चार बजे राष्ट्र के नाम संबोधन में उन्होंने इसका ऐलान किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि दिवाली-छठ तक गरीब परिवारों के हर सदस्य को हर महीने पांच किलो मुफ्त अनाज मिलता रहेगा। पांच किलो गेहूं या चावल के साथ साथ हर सदस्य को एक किलो चना भी मुफ्त मिलता रहेगा। यह योजना 30 जून को खत्म होने वाली थी। उसे प्रधानमंत्री ने नवंबर तक बढ़ाने का ऐलान किया है। गौरतलब है कि बिहार में अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। इससे यह भी जाहिर हुआ है कि सरकार भी महामारी में पूरे साल फंसे रहने की सोच में है।

प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन से पहले कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। लेकिन प्रधानमंत्री ने न तो कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बारे में कुछ कहा, न लॉकडाउन के बारे में कुछ कहा और न चीन के बारे में बोले। उन्होंने मुख्य रूप से दो बातें कहीं। पहली अहम बात यह कि गरीबों और मजदूरों को हर महीने मिलने वाले मुफ्त अनाज की योजना नवंबर तक चलेगी और दूसरी, उन्होंने लोगों को अनलॉक के दूसरे चरण में ज्यादा ऐहतियात बरतने की सलाह दी।

प्रधानमंत्री ने अपने 17 मिनट के भाषण में कहा- हमने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दिवाली और छठ पूजा तक यानी नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा। इसका मतलब है कि 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना अगले पांच महीने भी लागू रहेगी। इस योजना को बढ़ाने से सरकार को 90 हजार करोड़ से ज्यादा खर्च करने होंगे।

प्रधानमंत्री ने आगे अनलॉक होता देश और बदलते मौसम को लेकर ऐहतियात बरतने को कहा। उन्होंने कहा- जब सर्दी-जुकाम बढ़ता है, तब हमें ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है, पर अब हम ज्यादा लापरवाह होते जा रहे हैं। मास्क, गमछा, फेसकवर और सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण के अंत में किसानों और देश के ईमानदार करदाताओं की तारीफ कीष उन्होंने कहा कि इतने बड़े देश में हर गरीब के घर चूल्हा जलता रहे, यह केवल मेहनती किसानों और ईमानदार टैक्स पेयर्स की वजह से संभव हो पाया।

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू हुए लॉकडाउन के दौरान गरीब कल्याण योजना घोषित करने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके तहत पौने दो लाख करोड़ का पैकेज दिया गया। प्रधानमंत्री ने बताया कि तीन महीने में 20 करोड़ जन धन खातों में 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं। इसी तरह नौ करोड़ से ज्यादा किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। प्रधानमंत्री ने एक देश, एक राशन कार्ड योजना का भी जिक्र किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares