अयोध्या में बनेगा आसमान छूने वाला मंदिर!

रांची। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड में पार्टी के चुनाव  प्रचार अभियान की शुरुआत की और अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर वोट मांगा। उन्होंने कहा कि अयोध्या में आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा। ध्यान रहे नौ नवंबर को मंदिर मामले में फैसला आने के बाद से भाजपा के नेता इस मामले में बयानबाजी नहीं कर रहे थे। अमित शाह ने झारखंड में पार्टी के प्रचार में कांग्रेस पर हमला किया और यह भी दावा किया कि कांग्रेस ही इसमें रोड़ा अटका रही थी।

अमित शाह ने गुरुवार को झारखंड में दो जगह मनिका और लोहरदगा में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा- हर कोई चाहता था कि अयोध्या में मंदिर बने, लेकिन कांग्रेस कोर्ट में केस ही नहीं चलने देती थी। अभी सर्वानुमति से यह निर्णय कर दिया है। राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा।

शाह ने आगे कहा- हम चाहते थे कि कोर्ट फैसला करे और संवैधानिक रूप से इस विवाद का अंत हो। और देखिए सुप्रीम कोर्ट ने इसका समाधान कर राम मंदिर के निर्माण का प्रशस्त कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की एक के बाद एक समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। गौरतलब है कि झारखंड में पांच चरणों में 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक वोटिंग होगी। 23 दिसंबर को मतगणना होगी।

राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी जेएमएम के कांग्रेस से तालमेल करने पर तंज करते हुए शाह  ने कहा- हेमंत आदिवासियों की बात करते हैं। आप किसके साथ बैठे हो? मैं राहुल और सोनिया से पूछना चाहता हूं कि आपने 70 साल में आदिवासियों के लिए क्या किया?

उन्होंने कहा- कांग्रेस ने पिछले 70 सालों में पिछड़ों को सम्मान नहीं दिया। 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने ओबीसी आयोग को संवैधानिक मान्यता दी।

कश्मीर का मसला उठाते हुए शाह ने कहा- संसद के पहले सत्र में मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाने पर काम किया। और इस तरह देश में आतंकवाद के प्रवेश द्वार को बंद किया। उन्होंने कहा- हर कोई चाहता था कि अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए, मगर कांग्रेस ने ऐसा नहीं किया।

सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुनाया और रामलला मंदिर का रास्ता साफ कर दिया। ये सब संवैधानिक रूप से हुआ। देश की वर्षों से पड़ी समस्याओं को एक के बाद एक निपटाने का काम मोदी सरकार कर रही है। 30 नवंबर को मत देकर आप फैसला कीजिए। आपका एक वोट तय करेगा कि अगले पांच साल में झारखंड में किसकी सरकार होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares