• डाउनलोड ऐप
Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
spot_img

नेहरू भी याद आए मोदी को!

Must Read

अहमदाबाद। अगले साल देश की आजादी के 75 साल पूरे होने के समारोहों की शुरुआत हो गई है। शुक्रवार को आजादी के अमृत महोत्सव की शुरुआत हुई। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू भी याद आए। मोदी ने उन्हें आजादी के दूसरे नायकों के साथ याद करते हुए देश का पथ-प्रदर्शक बताया। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह के 91 वर्ष पूरे होने के अवसर पर अहमदाबाद के साबरमती आश्रम में अमृत महोत्सव की शुरुआत करते हुए इसकी वेबसाइट लांच की।

प्रधानमंत्री ने दांडी मार्च यात्रा को भी हरी झंडी दिखाई। इस यात्रा में शामिल 81 लोग 386 किलोमीटर की यात्रा कर पांच अप्रैल को दांडी पहुंचेंगे। इस मौके पर मोदी ने अपने भाषण में जवाहरलाल नेहरू का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा- 857 का स्वतंत्रता संग्राम, महात्मा गांधी का विदेश से लौटना, लोकमान्य का पूर्ण स्वराज्य का आह्वान, नेता जी का आजाद हिंद फौज का नारा दिल्ली चलो कोई नहीं भूल सकता। उन्होंने आगे कहा- ऐसे कितने ही सेनानी हैं जिनके प्रति देश हर रोज कृतज्ञता व्यक्त करता है। अंग्रेजों के सामने गर्जना करने वाली रानी लक्ष्मी बाई हों, पंडित नेहरू हों, सरदार पटेल हों, ऐसे अनगिनत जननायक आजादी के आंदोलन के पथ प्रदर्शक रहे।

प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे आजादी की लड़ाई से जुड़ी कहानियां किसी न किसी रूप में लोगों तक पहुंचाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा- स्कूल, कॉलेज से आग्रह करूंगा कि वे 75 घटनाएं तलाशें कि कौन लोग थे जो कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे। जिनका इंटरेस्ट नाटक में है वे नाटक लिखें। शुरू में यह सब हस्तलिखित हो, फिर डिजिटल करें। यह काम 15 अगस्त से पूरा कर लिया जाए। मोदी ने कहा- कला जगत, फिल्म जगत से भी आग्रह करूंगा कि कितनी ही आजादी की कहानियां बिखरी पड़ी हैं उन्हें हमारी आने वाली पीढ़ियों तक पहुंचाएं। मुझे विश्वास है कि 130 करोड़ देशवासी इस महोत्सव से जुड़ेंगे तो भारत बड़े से बड़े लक्ष्य को हासिल करके रहेगा।

गौरतलब है कि अगले साल देश की आजादी के 75 साल पूरे हो जाएंगे। इसी क्रम में 75 हफ्ते पहले शुक्रवार से अमृत महोत्सव शुरू हुआ। कार्यक्रम में 15 अगस्त 2022 तक देश के 75 जगहों पर कई तरह के आयोजन होंगे। इसमें युवा पीढ़ी को 1857 से 1947 के बीच चले स्वतंत्रता संग्राम की जानकारी देने, आजादी के 75 वर्ष में देश के विकास और आजादी के एक सौ वर्ष पूरे होने तक विश्वगुरु भारत की तस्वीर दिखाई जाएगी।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कांग्रेस के प्रति शिव सेना का सद्भाव

भारत की राजनीति में अक्सर दिलचस्प चीजें देखने को मिलती रहती हैं। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में...

More Articles Like This