अमूल्या को हिरासत में भेजा

बेंगलुरू। संशोधित नागरिकता कानून, सीएए और एनआरसी के खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम की ओर से आयोजित रैली में पाकिस्तान समर्थक नारे लगाने वाली लड़की को 14 दिन की हिरासत में जेल भेज दिया गया है। इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने दावा किया है कि नारेबाजी करने वाली महिला की अमूल्या के नक्सलियों से संबंध हैं। गौरतलब है कि ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की रैली में गुरुवार को एक महिला ने मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। महिला का नाम अमूल्या बताया जा रहा है। इसके बाद महिला को मंच से नीचे उतार दिया गया।

नारे लगाने वाली महिला देशद्रोह का केस दर्ज होने के बाद उसे 14 दिन के लिए जेल भेजा गया है। इस घटना के बाद ओवैसी ने कहा कि वे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों का समर्थन नहीं करते। महिला को सेव कांस्टीट्यूशन नाम की संस्था की तरफ से मंच पर बोलने के लिए बुलाया गया था। मंच पर पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाते ही ओवैसी सहित मंच पर मौजूद सभी लोग उससे माइक वापस लेने के लिए आगे बढ़े। पुलिस ने महिला के खिलाफ आईपीसी की धारा 124 ए के तहत देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया।

घटना के बाद ओवैसी ने कहा- मैं इस घटना की निंदा करता हूं। वो महिला हमारे साथ जुड़ी हुई नहीं है। हमारे लिए भारत जिंदाबाद था, जिंदाबाद रहेगा। ओवैसी ने कहा कि आयोजकों को इस महिला को नहीं बुलाना चाहिए था। यदि मुझे यह बात पता होती, तो मैं इस रैली में शामिल होने नहीं आता। हम लोग भारत के लिए हैं और किसी भी तरह दुश्मन देश पाकिस्तान का समर्थन नहीं करते। हमारी पूरी मुहिम भारत को बचाने के लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares