कोवैक्सीन पर राजनीति, कंपनी ने दी सफाई - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

कोवैक्सीन पर राजनीति, कंपनी ने दी सफाई

नई दिल्ली। भारत बायोटेक की बनाई स्वदेशी वैक्सीन को लेकर देश में राजनीतिक घमासान मचा है। कांग्रेस के कई नेताओं ने इस पर सवाल उठाए हैं। शशि थरूर से लेकर जयराम रमेश तक ने तीसरे चरण के परीक्षण का अंतिम डाटा आने से पहले ही वैक्सीन को मंजूरी देने पर सवाल उठाए हैं तो दूसरी ओर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा है कि कांग्रेस नेताओं को भारत की किसी भी चीज पर गर्व नहीं है। गौरतलब है कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, डीसीजीआई ने रविवार को दो वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी, जिसमें एक वैक्सीन भारत बायोटक की कोवैक्सीन भी है।

देश में इस वैक्सीन पर चल रही राजनीति के बीच कंपनी ने सोमवार को जवाब दिया। भारत बायोटेक के चेयरमैन कृष्‍णा इल्‍ला ने कहा- हम पर अनुभवहीन होने का आरोप न लगाएं, हम कई टीकों के निर्माता हैं। उन्‍होंने कहा- यह कहना गलत है कि हम डाटा को लेकर पारदर्शी नहीं हैं। सारे डाटा पब्लिक डोमेन पर हैं और इसमें कुछ भी सीक्रेट नहीं है। उन्होंने कोवैक्सीन को दुनिया के सबसे सुरक्षित कोरोना वैक्‍सीन में से एक बताया।

डॉ. कृष्‍णा इल्‍ला ने कहा- हमने वैश्विक स्‍तर पर 18 से अधिक क्‍लीनिकल ट्रायल किए हैं। हम इतनी बड़ी संख्‍या में क्‍लीनिकल ट्रायल करने वाले विकासशील देश की सबसे बड़ी कंपनी हैं। गौरतलब है कि भारत बायोटेक ने फेज दो में 12 से 18 साल के बच्चों पर भी वैक्सीन का परीक्षण किया था। इसके आधार पर डीसीजीआई ने क्लिनिकल ट्रायल मोड में इमरजेंसी स्थिति में वैक्सीन के सीमित इस्तेमाल की मंजूरी दी है और इसमें 12 साल या इससे ऊपर के बच्चे भी शामिल हैं। हालांकि अभी सरकार की प्राथमिकता जिन 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने की है उनमें बच्चे शामिल नहीं हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *