बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द

नई दिल्ली। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द हो गया है। वे गणतंत्र दिवस के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि भारत आमंत्रित किया गया था। उन्होंने भारत का न्योता स्वीकार भी कर लिया था, लेकिन ब्रिटेन में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस बात का अंदेशा था कि अंतिम समय में उनका दौरा रद्द हो सकता है। इस बीच ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन भी सामने आ गया, जिससे संक्रमण की रफ्तार अचानक बहुत बढ़ गई है। इस वजह से उनका दौरा रद्द हो गया है।

प्रधानमंत्री जॉनसन ने मंगलवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की। उन्होंने खेद जताते हुए कहा कि वे इस महीने भारत नहीं आ पाएंगे। जॉनसन ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि कोरोना की वजह से अभी देश में दोबारा लॉकडाउन लगाया गया है। जिस तरह ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन फैल रहा है, उस हिसाब से उनका देश में रहना जरूरी है। इससे वे वंहा के हालात पर ध्यान दे पाएंगे।

बोरिस जॉनसन ने उम्मीद जताई कि वे इसी साल ब्रिटेन में होने वाली जी-7 सम्मेलन से पहले भारत का दौरा करेंगे। इस सम्मेलन में जॉनसन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खासतौर से बुलाया है। ब्रिटेन में इन दिनों हालात बहुत मुश्किल हैं। कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने के बाद ब्रिटेन में हर दिन 50 हजार के करीब केसेज आ रहे हैं। नए स्ट्रेन की वजह से दुनिया के कई देशों ने ब्रिटेन से आवाजाही पर रोक लगा दी है। भारत ने भी 31 दिसंबर को उड़ानों पर रोक लगा दी थी। हालांकि भारत ने छह जून से उड़ानें शुरू करने का फैसला किया है।

इधर केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों ने ब्रिटेन के सांसदों से अपील की थी कि वे गणतंत्र दिवस पर बोरिस जॉनसन को भारत आने से रोकें। दिल्ली की सिंघु बॉर्डर पर डटे किसानों ने सांसदों को पत्र लिखा था। इसमें लिखा था कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री 26 जनवरी को भारत आने वाले हैं। हमारी अपील है कि जब तक भारत सरकार किसानों की मांग नहीं मानती है, उन्हें भारत आने से रोका जाए। हालांकि प्रधानमंत्री जॉनसन की यात्रा टलने का कारण यह चिट्ठी नहीं है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow