इस साल नहीं छपेगा बजट दस्तावेज

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की महामारी का असर सिर्फ संसद के सत्र पर ही नहीं है, बल्कि बजट के दस्तावेजों पर भी है। वायरस की वजह से वित्त वर्ष 2020-21 के बजट दस्तावेज नहीं छापे जाएंगे। केंद्र सरकार को इसके लिए लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति की मंजूरी मिल गई है। सरकार ने तय किया है कि सभी संसद सदस्यों को इस बार बजट के दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी मुहैया कराई जाएगी।

गौरतलब है कि केंद्रीय बजट की छपाई हर साल वित्त मंत्रालय की प्रिंटिंग प्रेस में होती रही है। वित्त मंत्रालय का कहना था कि बजट के दस्तावेजों की छपाई के लिए एक सौ से ज्यादा लोगों को दो हफ्ते तक एक ही जगह रखना होता है। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सरकार इतने लोगों को इतने लंबे समय तक प्रिंटिंग प्रेस में नहीं रख सकती। इसी वजह से इस साल केंद्र सरकार के सूचना व प्रसारण मंत्रालय की ओर से छपने वाली डायरी और कैलेंडर का भी प्रकाशन नहीं हुआ है।

बहरहाल, बजट दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी के लिए सांसदों को मनाने में लोकसभा अध्यक्ष और उप सभापति को काफी मशक्कत करनी पड़ी। बताया जा रहा है कि बजट के दस्तावेजों को लेकर दो विकल्प रखे गए थे। सभी सांसदों को सॉफ्ट कॉपी दी जाए या किसी को नहीं। क्योंकि थोड़े से लोगों के लिए सीमित संख्या में कॉपी छापना मुमकिन नहीं था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares