बंगाल में ट्रेन, बस, स्टेशन जलाए गए!

कोलकाता। असम के बाद अब पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा तेज गई है। शनिवार को राज्‍य के मुर्शिदाबाद जिले के लालगोला रेलवे स्‍टेशन पर पांच खाली ट्रेनों में आग लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा के पास हाईवे जाम कर कम से कम 15 बसों को जला दिया। नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने एक रेलवे स्टेशन पर भी तोड़ फोड़ की और आग लगा दी। कई इलाकों में सुबह से ही रेल यातायत ठप्प है क्योंकि प्रदर्शनकारी पटरियों पर बैठे हुए थे।

प्रदर्शनकारियों ने राज्‍य के कई हिस्‍सों में सड़क जाम किया और रेल सेवाओं को बाधित किया। गौरतलब है कि इस बिल के विरोध में पूर्वोत्तर भारत और खास कर असम में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। असम में तो कर्फ्यू को का उल्लंघन कर सड़क पर उतरे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की फायरिंग में दो लोगों की मौत तक हो चुकी है। एक दिन के बंद के बाद असम में ऑल असम स्टूडेंट यूनियन, आसू ने तीन दिन तक सत्याग्रह करने का ऐलान किया है। इस बीच शनिवार को नगालैंड में कई संगठनों ने छह घंटे तक बंद का आयोजन किया।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शनिवार को लगातार दूसरे दिन पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हुए। कई बसों और एक रेलवे स्टेशन परिसर में आगजनी की गई। पुलिस ने बताया कि मुर्शिदाबाद और उत्तरी 24 परगना जिलों व हावड़ा से हिंसा की खबरें मिली हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने करीब 15 बसों को आग के हवाले कर दिया, जिनमें सार्वजनिक के साथ-साथ निजी बसें भी शामिल हैं।

बहरहाल, शनिवार को प्रदर्शनकारियों ने कोलकाता को दिल्ली और मुंबई से जोड़ने वाले कोना एक्सप्रेस वे पर हावड़ा में सड़क जाम किया। पुलिस के मुताबिक इससे एक्सप्रेस वे पर यातायात थम गया। पुलिस ने बताया कि मुर्शिदाबाद में राष्ट्रीय राजमार्ग 34 और जिले की कई अन्य सड़कों को बाधित कर दिया गया। पुलिस ने बताया कि बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी स्थिति नियंत्रित करने के लिए मौके पर हैं। पूर्वी रेलवे के सियालदह-हसनाबाद के बीच रेल सेवाएं भी बाधित हैं।

ममता ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों से अपील की है कि वे कानून नहीं तोड़ें। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में उन्होंने कहा है- कानून अपने हाथ में मत लीजिए। सड़क और रेल यातायात जाम मत कीजिए। सड़कों पर आम लोगों के लिए परेशानी खड़ी मत कीजिए। ममता ने बयान में कहा है- सरकारी संपत्तियों को नुकसान मत पहुंचाइए। जो लोग परेशानियां खड़ी करने के दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares