Corona Vaccine Update: Delhi में 18 प्लस टीकाकरण बंद, Vaccine की कमी - Naya India
देश | दिल्ली | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

Corona Vaccine Update: Delhi में 18 प्लस टीकाकरण बंद, Vaccine की कमी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में अब 18 से 44 साल की उम्र वालों के लिए वैक्सीनेशन बंद हो गई है। रविवार से इस आयु वर्ग वालों को वैक्सीन नहीं लगेगी। दिल्ली सरकार ने बताया है कि वैक्सीन की कमी की वजह से वैक्सीनेशन बंद करनी पड़ी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर वैक्सीन की कमी के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने प्रधानमंत्री को चिट्‌ठी लिख कर वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने के लिए सलाह दी है। इस बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधा और कहा कि वे पहले ऑक्सीजन पर राजनीति कर रहे थे और अब वैक्सीन पर कर रहे हैं।

इससे पहले केजरीवाल ने शनिवार को कहा- केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए जो वैक्सीन भेजी थीं, वो खत्म हो गई हैं। इसलिए शनिवार को कुछ ही सेंटर पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। ये स्टॉक भी शाम तक खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा- कल से पूरे राज्य में युवाओं का वैक्सीनेशन बंद करना पड़ेगा। केंद्र को लिख कर हमने और वैक्सीन मांगी हैं। जैसे ही मिलेंगी, हम वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को हर महीने 80 लाख वैक्सीन की जरूरत है, लेकिन इसके मुकाबले मई में हमें केवल 16 लाख वैक्सीन ही मिली हैं। जून के लिए केंद्र ने दिल्ली का कोटा और कम कर दिया है। उन्होंने कहा- जून में हमें सिर्फ आठ लाख वैक्सीन दी जाएगी। अगर हर महीने केंद्र से आठ लाख वैक्सीन मिली तो दिल्ली के युवाओं को वैक्सीन लगाने में 30 महीने से ज्यादा लग जाएंगे। तब तक पता नहीं कितनी लहरें आएंगी और कितने लोगों की जान जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा- दिल्ली के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने के लिए ढाई करोड़ वैक्सीन की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना की रफ्तार काफी कम हो गई है। पिछले 24 घंटे में संक्रमण दर घट कर साढ़े तीन फीसदी रह गई है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि कोरोना का खतरा टल गया है। मुख्यमंत्री ने वैक्सीन का फार्मूला शेयर करने के लिए भारत बायोटेक की तारीफ और कहा कि केंद्र सरकार को दूसरी वैक्सीन कंपनियों को भी ऐसा करने का आदेश देना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र को 24 घंटे के अंदर दूसरे देशों से बड़ी तादाद में वैक्सीन खरीदनी चाहिए और राज्यों को उनकी जरूरत के हिसाब से बांटनी चाहिए।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *