राहुल ने बैंक डिफॉल्टरों के नाम पूछे

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही में हिस्सा लिया और बैंकों का कर्ज नहीं चुकाने वाले 50 बड़े डिफॉल्टरों के नाम बताने की मांग की। उनके सवाल के जवाब में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने उलटे राहुल को ही निशाना बनाया और कहा कि वे इस पर राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग अपने पाप दूसरों के सर मंढने की कोशिश कर रहे हैं। राहुल गांधी ने सरकार पर आरोप लगाया कि वह कर्ज नहीं चुकाने वाले बड़े लोगों को बचा रही है।

राहुल गांधी प्रश्न काल में पूरक प्रश्न पूछना चाहा पर उनको इसकी इजाजत नहीं मिली। इस पर कांग्रेस सदस्यों ने कड़ी आपत्ति जताई और इसके विरोध में आसन के सामने जाकर नारेबाजी भी की। सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि यह सरासर नाइंसाफ है कि राहुल गांधी को पूरक प्रश्न नहीं करने दिया गया जबकि प्रश्नकाल समाप्त होने में अभी थोड़ा समय बाकी था। इसके बाद कांग्रेस सदस्य इसके विरोध में सदन से वाकआउट कर गए।

इससे पहले, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने राहुल के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि देश के सभी बैंक सुरक्षित हैं और यस बैंक के जमाकर्ताओं का पैसा भी सुरक्षित है। ठाकुर ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि इनकी सरकार ने पैसा देकर लोगों को देश से बाहर भगाया, लेकिन मोदी जी वही पैसा वापस ला रहे हैं। उन्होंने कहा- मोदी सरकार ही भगोड़ा आर्थिक अपराधी संबंधी विधेयक लाई है। ऐसे आर्थिक अपराधियों की संपत्तियों को जब्त किया गया है।

राहुल गांधी ने अपने मूल प्रश्न को उठाते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है, व्यावहारिक रूप से देखा जाए तो बैंकिंग सिस्टम काम नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण बड़ी संख्या में लोग बैंकों का पैसा चुराकर भाग रहे हैं। उन्होंने सरकार से देश के सबसे बड़े 50 चूककर्ताओं के नाम बताने की मांग की। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने उनके सवाल का घुमाफिरा कर जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि जिन लोगों ने बैंकों का पैसा हड़पा है उन्हें वे पकड़ कर लाएंगे लेकिन उनकी सरकार 50 बड़े चूककर्ताओं के नाम तक नहीं बता रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares