शाह पुलिस का मनोबल बढ़ा रहे

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में चार दिन से चल रही सांप्रदायिक हिंसा थमने से पहले ही कांग्रेस और भाजपा में जुबानी जंग शुरू हो गई है। कांग्रेस ने दिल्ली के दंगों के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफा मांगा तो भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के हाथ खून से रंगे हैं। भाजपा ने बुधवार को कहा कि जिनके हाथ निर्दोष सिखों के खून से रंगे हों, वे अब हिंसा रोकने में सफलता-असफलता की बात कर रहे हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने संवाददाताओं से कहा- गृह मंत्री पहले दिन से ही शांति बहाली के प्रयास में लगे हुए थे और पुलिस के साथ लगातार काम कर रहे हैं, निर्देश दे रहे हैं और मनोबल बढ़ाने में लगे हैं। शाह के इस्तीफे की कांग्रेस की मांग को हास्यास्पद बताते हुए जावडेकर ने कहा- कांग्रेस पूछ रही है कि अमित शाह कहां थे? अमित शाह ने कल सभी दलों की बैठक ली, जिसमें आप पार्टी के साथ-साथ कांग्रेस के नेता भी उपस्थित थे।

केंद्रीय मंत्री जावडेकर ने कहा कि कांग्रेस की ऐसी टिप्पणियों से पुलिस का मनोबल गिरता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली की हिंसा पर जो बयान दिया है, वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हिंसा समाप्त हो रही है और सच्चाई सामने लाने के लिए जांच भी शुरु हो गई है। जावडेकर ने कहा- हमारा विश्वास है कि पुलिस की जांच में सच्चाई सामने आएगी। उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा कि जांच में यह बात भी सामने आ जाएगी कि किसने पथराव की तैयारी की, किसने वाहनों में आग लगाई और कौन पिछले दो माह से लोगों को उकसा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares