मैं सावरकर नहीं जो माफी मांगूं

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की भारत बचाओ रैली में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी के ऊपर बेहद आक्रामक अंदाज में हमला बोला। उन्होंने कहा कि भारत के दुश्मन चाहते थे कि देश की अर्थव्यवस्था नष्ट हो और उनके लिए यह काम मोदी सरकार ने कर दिया। उन्होंने रेप इन इंडिया वाले अपने बयान पर माफ मांगने से फिर से इनकार करते हुए कहा कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं है और वे सच बोलने के लिए माफी नहीं मांगने वाले हैं।

कांग्रेस की ओर से दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित भारत बचाओ रैली में राहुल ने अर्थव्यवस्था की स्थिति, महिला सुरक्षा, कृषि संकट और बेरोजगारी को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने कहा- भारत के दुश्मन अर्थव्यवस्था को नष्ट करना चाहते थे लेकिन इस काम को खुद देश के प्रधानमंत्री ने अंजाम दे दिया। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं की हिम्मत बढ़ाते हुए कहा- कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता, एक इंच पीछे नहीं हटता और देश के लिए अपनी जान देने के लिए तैयार रहता है।

रेप इन इंडिया वाली टिप्पणी को लेकर भाजपा के हमले पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा- संसद में शुक्रवार को भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं अपने भाषण के लिए माफी मांगूं। मुझे कहते हैं कि सही बात बोलने के लिए माफी मांगो। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा। मर जाऊंगा मगर माफी नहीं मांगूंगा और न कोई कांग्रेस वाला माफी मांगेगा।

प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा- मोदी जी को देश से माफी मांगनी है। उनके जो असिस्टेंट हैं, अमित शाह, उनको देश से माफी मांगनी है। आर्थिक मंदी का हवाला देते हुए राहुल ने कहा- इस देश की आत्मा, इस देश की शक्ति, इसकी अर्थव्यवस्था थी। पूरी दुनिया हमारी तरफ देखती थी। एक तरफ चीन दूसरी तरफ हिंदुस्तान, चिंडिया बोलते थे, चिंडिया। दुनिया का भविष्य चीन और इंडिया कहे जाते थे।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा- आज, प्याज की कीमत एक सौ रुपए किलो से ज्यादा है, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नरेंद्र मोदी ने खुद अकेले नष्ट कर दी, खत्म कर दी। उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने काला धन खत्म करने के नाम पर नोटबंदी की और आम लोगों के जेब से पैसे निकाल कर कुछ उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया। राहुल ने कहा- 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हिंदुस्तान में आज है। कांग्रेस की सरकार में जीडीपी विकास दर नौ फीसदी होती थी, आज चार फीसदी पर पहुंच गई है। वो भी उन्होंने जीडीपी नापने का तरीका बदला है। पुराने तरीके से जीडीपी नापो तो आज यह ढाई फीसदी है।

सोनिया, प्रियंका ने भी किया हमला

सोनिया गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी की पहली बड़ी रैली में कांग्रेस के तमाम नेताओं ने केंद्र सरकार और भाजपा पर हमला बोला। सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, मनमोहन सिंह, पी चिदंबरम आदि नेताओं ने आर्थिकी को नष्ट करने से लेकर कई आरोप केंद्र सरकार पर लगाए। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशान साधते हुए कहा कि इन दोनों का काम देश के लोगों को आपस में लड़वाना और असली मुद्दों से ध्यान भटकाना है।

सोनिया ने कहा- अब समय आ गया है कि हम लोग अपने-अपने घरों से निकले और आंदोलन करें। आज जब मैं अपने अन्नदाता किसान भाइयों की ओर देखती हूं तो मुझे बहुत दुख होता है। उन्हें खाद नहीं मिलती। पानी-बिजली की सुविधाएं नहीं मिलतीं। फसल के उचित दाम नहीं मिलते। उन्होंने कहा- मजदूर भाइयों को दो वक्त की रोटी नहीं मिल रही है। छोटे-बड़े कारोबारी, जिन्होंने बैंकों से लोन लिया है, वो परेशान हैं। हर जगह से छोटे कारोबारियों के आत्महत्या करने की खबरें आ रही हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मोदी पर तंज करते हुए कहा- हर बस स्टॉप, हर अखबार में दिखता है कि मोदी है तो मुमकिन है। असलियत यह है कि भाजपा है तो एक सौ रुपए किलो प्याज है। भाजपा है तो 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी मुमकिन है। भाजपा है तो चार करोड़ नौकरियां नष्ट होना मुमकिन है। प्रियंका ने यह भी कहा कि न्याय की लड़ाई लड़ने से बड़ी देशभक्ति कोई नहीं है।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को भारत बचाओ रैली में मोदी पर हमला करते हुए कहा- आज से करीब छह साल पहले मोदी जी ने देश की जनता को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखलाए थे। उन्होंने जनता से वायदा किया था कि वो 2024 तक देश की राष्ट्रीय आमदनी को पांच हजार अरब डॉलर तक पहुंचा देंगे, किसानों की आमदनी पांच साल में दोगुनी कर दी जाएगी। देश के नौजवानों को हर साल दो करोड़ नए रोजगार के साधन मुहैया कराएंगे। अब ये साबित हो गया कि ये सब वादे झूठे थे और देश की जनता को गुमराह करने के लिए उन्होंने जो भी वादे किए, उनको पूरा करने में ये बिल्कुल नाकाम रहे हैं।

 

इसे भी पढ़ें : मोदी-शाह असली मुद्दों चाहते हैं पर्दा डालना : सोनिया

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares