कांग्रेस के दिग्गज मोतीलाल वोरा का निधन - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

कांग्रेस के दिग्गज मोतीलाल वोरा का निधन

नयी दिल्ली।  अहमद पटेल और तरुण गोगोई के बाद कांग्रेस के एक और दिग्गज नेता मोतीलाल वोरा का निधन हो गया। दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। वे 93 साल के थे। मोतीलाल वोरा दो बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और 2000 से 2018 तक लगातार 18 साल पार्टी के कोषाध्यक्ष रहे। वोरा ने एक दिन पहले 20 दिसंबर को ही अपना 93वां जन्मदिन मनाया था।

बताया गया है कि उनका अंतिम संस्कार मंगलवार शाम चार बजे छत्तीसगढ़ के दुर्ग में होगा। उनका पार्थिव शरीर मंगलवार की सुबह 10 बजे दिल्ली से रायपुर पहुंचेगा। गौरतलब है कि 2018 में वोरा के हटने के बाद अहमद पटेल को पार्टी का कोषाध्यक्ष बनाया गया था। पिछले महीने 25 नवंबर को पटेल का भी निधन हो गया था। वोरा के निधन के बाद राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा- वोरा जी सच्चे कांग्रेसी और जबरदस्त इंसान थे। उनकी कमी बहुत खलेगी। उनके परिवार से साथ मेरी संवेदनाएं हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी।

पांच दशक से ज्यादा समय तक राजनीति में सक्रिय रहे मोतीलाल वोरा 1968 में अविभाजित मध्य प्रदेश की दुर्ग म्यूनिसिपल कमेटी के सदस्य बने थे। वे 1970 में कांग्रेस में शामिल हुए और 1972 में कांग्रेस के टिकट पर विधायक बने। इसके बाद वे 1977 और 1980 में भी विधायक चुने गए। अर्जुन सिंह की कैबिनेट में पहले उच्च शिक्षा विभाग में राज्य मंत्री रहे और 1983 में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाए गए।

वे पहली बार 13 फरवरी 1985 को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। तीन साल मुख्यमंत्री रहने के बाद वे 14 फरवरी 1988 में केंद्र में स्वास्थ्य व परिवार कल्याण और नागरिक विमानन मंत्री बने। वे 26 मई 1993 से तीन मई 1996 तक उत्तर प्रदेश के राज्यपाल भी रहे। वोरा को कांग्रेस का कोषाध्यक्ष बनाने के बाद 22 मार्च 2002 को एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक बनाए गया था। ‘नेशनल हेराल्ड’ न्यूज पेपर की संपत्ति विवाद में वोरा विवादों में भी रहे। फिलहाल इस केस को लेकर कोर्ट में अभी सुनवाई चल रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *