nayaindia एक्टिव केसेज में कमी नहीं - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

एक्टिव केसेज में कमी नहीं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के एक्टिव केसेज में कमी नहीं आ रही है। देश के करीब 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक्टिव केसेज में बढ़ोतरी हुई है। गुरुवार को देर रात तक देश भर में 15 हजार से ज्यादा नए केसेज आए, जबकि इलाज से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 13 हजार के करीब रही। यानी 24 घंटे में दो हजार एक्टिव केस बढ़ गए। बड़े राज्यों में केरल, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु को छोड़ कर बाकी सभी राज्यों में नए मरीजों की संख्या ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा रही।

इसका नतीजा यह हुआ है कि गुरुवार को देश में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर एक लाख 72 हजार से ज्यादा हो गई। देश में सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य महाराष्ट्र में संक्रमितों की आंकड़ा गुरुवार को नौ हजार के करीब रहा। गुरुवार को महाराष्ट्र में 8,998 नए केसेज आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 21 लाख 88 हजार 183 हो गई। राज्य में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर 85,144 हो गई है। तीन हफ्ते पहले महाराष्ट्र में एक्टिव केसेज की संख्या घट कर 36 हजार आ गई थी, जो अब दोगुने से काफी ज्यादा हो गई है। पूरे देश में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर एक लाख 72 से ज्यादा हो गई है। दो हफ्ते पहले एक्टिव केसेज की संख्या डेढ़ लाख से नीचे आ गई थी।

भारत के लिए राहत की बात यह है कि केरल में संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। गुरुवार को राज्य में 2,616 नए संक्रमित मिले, जबकि 4,156 लोग इलाज से ठीक हुए। अब राज्य में संक्रमितों की संख्या 10 लाख 69 हजार 661 हो गई है लेकिन एक्टिव केसेज की संख्या घट कर 44 हजार रह गई है। केरल के अलावा बड़े राज्यों में सिर्फ पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में एक्टिव केसेज कम हुए।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी मरीजों की संख्या घटने का सिलसिला थम गया है। गुरुवार को राज्य में 261 मामले आए, जबकि 143 लोग इलाज से ठीक हुए। राज्य में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर 1,701 हो गई है। दो हफ्ते पहले यह कम होकर 12 सौ के करीब आ गई है। गुजरात में 480 नए मामले आए और 369 लोग इलाज से ठीक हुए। पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में भी संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

8 + fifteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
खुद चुनाव आयोग में सुधार जरूरी
खुद चुनाव आयोग में सुधार जरूरी