• डाउनलोड ऐप
Monday, April 19, 2021
No menu items!
spot_img

अफ्रीका और ब्राजील से भी पहुंचा कोरोना

Must Read

नई दिल्ली। भारत में एक तरफ तो कोरोना वायरस के संक्रमण की दर लगातार कम हो रही है और हर दिन आने वाले नए केसेज की संख्या भी कम हो रही है पर इस बीच दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से भी कोरोना का वायरस भारत पहुंच गया है। इन दोनों देशों में मिले वायरस का स्ट्रेन भारत में भी पाया गया है। यह भारत के लिए चिंता की बात हो सकती है क्योंकि दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील में मिला कोरोना वायरस का स्ट्रेन ब्रिटेन में मिले स्ट्रेन के मुकाबले ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि फरवरी के पहले हफ्ते में ब्राजील में मिले वायरस के स्ट्रेन का एक मामला भारत में मिला है। इससे पहले जनवरी में दक्षिण अफ्रीका में मिले वायरस स्ट्रेन के चार मामले भारत में मिले थे। इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि पुणे की लैब में वायरस को सफलतापूर्वक आइसोलेट कर दिया गया है।

डॉक्टर भार्गव ने कहा कि नए स्ट्रेन पर वैक्सीन के असर के बारे में पता लगाया जा रहा है। ये दोनों वायरस ब्रिटेन वाले स्ट्रेन से अलग हैं। उन्होंने बताया कि देश में ब्रिटेन में मिले वायरस स्ट्रेन के अब 187 मरीज हो गए हैं। इन सभी को क्वरैंटाइन में रखा गया हैं और इनका इलाज किया जा रहा है। डॉक्टर भार्गव ने कहा- हमारे पास जो वैक्सीन उपलब्ध है, वह इस स्ट्रेन पर कारगर है।

दूसरे देशों में मिल रहे नए स्ट्रेन के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि ब्रिटेन से आने वाले सभी यात्रियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य है। उन्होंने संकेत दिया कि सरकार इसी रणनीति को दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से आने वाली उड़ानों पर भी लागू करेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने साथ ही यह भी बताया कि देश में मंगलवार की सुबह तक 87 लाख 40 हजार 595 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। मंत्रालय ने बताया कि राजस्थान, सिक्किम, झारखंड, मिजोरम, केरल, उत्तर प्रदेश, ओड़िशा, हिमाचल प्रदेश, त्रिपुरा, बिहार, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड और लक्षद्वीप में 70 फीसगी से ज्यादा रजिस्टर्ड स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन का पहला डोज लग चुका है।

मुंबई में फिर लॉकडाउन की चेतावनी

देश की वित्तीय राजधानी मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में नए केसेज की संख्या बढ़ रही है। रविवार को महाराष्ट्र में चार हजार नए केसेज आए थे। कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए मुंबई महानगर की मेयर ने चेतावनी दी है कि अगर लोगों ने सावधानी नहीं बरती को फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि मुंबई शहर फिर से लॉकडाउन के मोड में जाएगा, यह यहां के लोगों पर निर्भर करेगा। उन्‍होंने कहा कि ट्रेन में सफर करने वाले ज्‍यादातर लोग मास्‍क नहीं पहन रहे। पेडणेकर ने कहा- यह चिंता का विषय है, ट्रेन में जर्नी करने वाले ज्‍यादातर लोग मास्‍क नहीं पहन रहे। लोगों को ऐहतियात बरतनी होगी अन्‍यथा हमें एक और लॉकडाउन की ओर जाना पड़ेगा।

मुंबई की मेयर ने कहा कि एक और लॉकडाउन फिर से लागू किया जाएगा, यह लोगों के हाथ में है। इससे पहले महाराष्‍ट्र सरकार ने स्थिति को चेतावनी भरा बताते हुए कहा था कि कोरोना मामलों में आए ताजा उछाल के बाद सरकार को सख्‍त कदम उठाने पड़ सकते हैं। उप मुख्‍यमंत्री अजित पवार ने कोरोना के लेकर ऐहितयात नहीं बरतने को लेकर नाराजगी जताई। उन्‍होंने कहा- कड़े कदम उठाए जा सकते हैं और लोगों को इसके लिए तैयार रहना चाहिए। यदि वक्‍त रहते कुछ कदम नहीं उठाए गए तो हमें इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

उन्‍होंने कहा- हमें ऐसी रिपोर्ट मिल रहे हैं कि लोग ऐहतियात नहीं बरत रहे। राज्‍य में कोरोना के नए केसों की संख्‍या बढ़ना चेतावनी भरा है। हमने देखा है कि कोरोना की दूसरी लहर के मद्देनजर दुनिया के कई हिस्‍सों में लॉकडाउन लागू किया गया है। उधर कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में एक इमारत में दो जगह पार्टी किए जाने के बाद 103 लोगों के कोराना पॉजिटिव पाए जाने से शहर में घबराहट फैल गई है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

पार्टी के बड़े नेता राहुल के पक्ष में

कांग्रेस के तमाम बड़े नेता राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के पक्ष में हैं। इन दिनों भारत की राजनीति...

More Articles Like This