कोरोना: एक साल बीता, पर जीत नहीं! - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

कोरोना: एक साल बीता, पर जीत नहीं!

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए भारत में लगाए गए जनता कर्फ्यू और पहले लॉकडाउन को एक साल पूरा होने जा रहा है। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाभारत की तर्ज पर 21 दिन में कोरोना के खिलाफ युद्ध जीत लेने का दावा किया था। उसके एक साल बीत जाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है और अगर इसे नहीं रोका गया तो मुश्किल होगी। उन्होंने बुधवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की और कहा टेस्टिंग और वैक्सीनेशन दोनों की रफ्तार बढ़ानी होगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए राज्यों को तीन ‘टी’ का मंत्र दिया। उन्होंने कहा- हमें देश भर में टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट पर एक बार फिर से जोर देना होगा। प्रधानमंत्री ने कहा- कई देशों में संक्रमण की कई लहरें देखने को मिल रही हैं। हमारे यहां भी महाराष्ट्र, केरल, पंजाब और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में केस काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। हमें इसे रोकने के लिए तेजी से काम करना होगा। उन्होंने कहा- इन सबके बीच लोग हैरान-परेशान न हों, हमें इसका भी बखूबी ध्यान रखना होगा।

मोदी ने राज्यों से कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच टेस्टिंग को और तेज करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि कुल टेस्ट में आरटी-पीसीआर टेस्ट को 70 फीसदी करने की जरूरत है। उन्होंने केरल, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में रैपिड एंटीजन टेस्टिंग ही किए जाने पर चिंता जताई। उन्होंने कहा- छोटे शहरों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। हमें इन्हें समय रहते रोकना होगा, वर्ना गांवों में मामले बढ़े तो संभालना मुश्किल हो जाएगा।

प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन अभियान को और तेज करने की बात कही। उन्होंने राज्यों को वैक्सीन बरबाद होने पर भी सचेत रहने को कहा। मोदी ने कहा- अब तक एक अनुमान के मुताबिक करीब 30 लाख वैक्सीन रोज लग रहे हैं। ऐसे में हमें इसे और गति देने की जरूरत है। सरकारी और निजी अस्पतालों को इसके लिए जरूरी लगे तो वैक्सीनेशन सेंटर्स बढ़ाने चाहिए। प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में वैक्सीन की बरबादी पर भी आगाह किया। उन्होंने कहा कि इन राज्यों में वैक्सीन वेस्टेज का आंकड़ा करीब 10 फीसदी तक पहुंच गया है।

बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से कहा कि संक्रमण रोकने के लिए राज्य पाबंदियां अपने हिसाब से तय करें। उन्होंने कहा- हमें इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि लोगों में दहशत न फैले। हमें दवाई भी-कड़ाई भी के सिद्धांत का पालन करना होगा। इसके लिए मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य नियमों का कड़ाई से पालन करना और करवाना होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Ind Vs Pak Match : मैच से पहले PCB अध्यक्ष रमीज राजा का बड़ा बयान, कहा- इंशाल्लाह मैच हम ही…
Ind Vs Pak Match : मैच से पहले PCB अध्यक्ष रमीज राजा का बड़ा बयान, कहा- इंशाल्लाह मैच हम ही…