कोरोना संक्रमण फैलने की दर घटी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने दावा किया है कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की दर काफी कम हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि अब देश में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने की दर 5.5 फीसदी हो गई है। सरकार का दावा है कि अप्रैल के पहले हफ्ते में वायरस के बढ़ने की दर 22.6 फीसदी थी, लेकिन इसके बाद इसमें कमी आनी शुरू हुई। यह राहत की बात है।स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि अभी इसके बढ़न की दर में काफी कमी आई है। अगर पहले की तरह मामले बढ़ते तो हालत गंभीर होती।  इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, आईसीएमआर ने बताया कि देश में अब ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग पर फोकस किया जा रहा है। पिछले चार दिनों से रोज एक लाख से ज्यादा टेस्टिंग हो रही हैं। उसने बताया कि शुक्रवार को एक लाख 57 हजार 16 लोगों का टेस्ट हुआ। अभी तक 27 लाख 19 हजार 434 लोगों की जांच की जा चुकी है।

आईसीएमॉआर ने बताया कि देश में मौतों की रफ्तार भी कम हुई है। आंकड़े देखें तो 19 मई को देश में 3.13 फीसदी की दर से मौतें हो रही थीं, अब यह घट कर तीन फीसदी हो गई है। अधिकार प्राप्त समूह के अध्यक्ष वीके पॉल ने बताया कि जब देश में लॉकडाउन शुरू हुआ था तो संक्रमण का डबलिंग रेट 3.4 दिन था। मतलब हर 3.4 दिन में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही थी लेकिन आज यह 13.3 दिन हो गया है। उन्होंने कहा कि संक्रमण को फैलने से रोकने में लॉकडाउन ने काफी मदद की। पॉल ने कहा कि लॉकडाउन के चलते 14 से 29 लाख संक्रमण के मामले और 38 हजार से 78 हजार मौतें रोकने में सफलता मिली है। उन्होंने बताया कि इतना बड़ा देश होने के बावजूद संक्रमण कुछ स्थानों तक सिमट कर रह गया। संक्रमण के कुल मामलों में 80 फीसदी सिर्फ पांच राज्यों से हैं। इनमें भी 60 फीसदी मामले पांच शहरों तक सिमटे हुए हैं। सरकार ने बताया कि संक्रमण के चलते अभी तक एक लाख 85 हजार कोविड बेड का इस्तेमाल हुआ है। तीन लाख बेड तैयार हैं, जिनका अभी तक इस्तेमाल नहीं हुआ है। ये आगे की परिस्थिति के लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares