कोराना के रिकार्ड मामले - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

कोराना के रिकार्ड मामले

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का खतरा एक बार फिर देश में लौट आया है। बुधवार को देर रात तक पूरे देश में 16 हजार से ज्यादा नए मामले आए। देर रात तक कई राज्यों के आंकड़े अपडेट नहीं हुए थे। उनके आंकड़े अपडेट होने के बाद संक्रमितों की संख्या नया रिकार्ड बना सकती है। देश में सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य महाराष्ट्र में संक्रमितों की आंकड़ा 10 हजार के करीब पहुंच गया। पिछले करीब दो महीने में पहली बार महाराष्ट्र में संक्रमितों का आंकड़ा 10 हजार के करीब पहुंचा है। देश के कई राज्यों में ठीक होने वालों की संख्या से ज्यादा नए मरीज आ रहे हैं, जिसकी वजह से एक्टिव केसेज की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

बुधवार को महाराष्ट्र में 9,855 नए केसेज आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 21 लाख 79 हजार 185 हो गई। राज्य में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर 82,343 हो गई है। तीन हफ्ते पहले महाराष्ट्र में एक्टिव केसेज की संख्या घट कर 36 हजार आ गई थी, जो अब दोगुने से काफी ज्यादा हो गई है। पूरे देश में एक्टिव केसेज की संख्या बढ़ कर एक लाख 71 से ज्यादा हो गई है। दो हफ्ते पहल एक्टिव केसेज की संख्या डेढ़ लाख से नीचे आ गई थी।

भारत के लिए राहत की बात यह है कि केरल में संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। बुधवार को राज्य में 2,765 नए संक्रमित मिले, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 10 लाख 67 हजार 45 हो गई। राज्य में एक्टिव केसेज की संख्या 47 हजार के करीब है। पिछले तीन हफ्ते में इसमें 30 हजार की कमी आई है। हालांकि कुछ अन्य राज्यों में संक्रमितों की संख्या में कमी का सिलसिला थम गया है।

पंजाब में बुधवार को 772 नए मामले आए। राज्य में संक्रमितों की संख्या एक लाख 84 हजार 310 हो गई है। एक्टिव केसेज की संख्या भी साढ़े पांच हजार से ज्यादा हो गई है। इसके अलावा छत्तीसगढ़, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात आदि राज्यों में भी 24 घंटे में मिलने वाले मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, ओड़िशा, राजस्थान आदि राज्यों सहित देश के करीब दो दर्जन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 24 घंटे में मिलने वाले केसेज के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कम रही।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
विश्व स्वास्थ्य संगठन की बड़ी चेतावनी
विश्व स्वास्थ्य संगठन की बड़ी चेतावनी