सरकार का हर्ड इम्युनिटी से इनकार - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

सरकार का हर्ड इम्युनिटी से इनकार

नई दिल्ली । कोरोना संक्रमितों का पता लगाने के लिए मुंबई की झुग्गी बस्तियों और दिल्ली में कराए गए सिरो सर्वे के नतीजों के बाद इस बात का अटकलें लगाई जा रही थीं कि भारत में लोगों में हर्ड इम्युनिटी विकसित हो गई है। पर केंद्र सरकार ने गुरुवार को इससे इनकार किया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी राजेश भूषण ने कहा कि भारत जैसे बड़ी आबादी वाले देश के लिए कम से कम अभी हर्ड इम्युनिटी की बात करना खतरनाक है। उन्होंने साथ ही यह भी बताया कि भारत में मरीजों के ठीक होने की दर 64.4 फीसदी हो गई है।

राजेश भूषण ने गुरुवार को कहा- हर्ड इम्युनिटी एक इनडायरेक्ट प्रोटेक्शन है। हर्ड इम्युनिटी वैक्सिनेशन के बाद पैदा होती है या फिर पहले बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों में होती है। भारत की जनसंख्या 138 करोड़ है। इस तरह की जनसंख्या वाले देश में बिना वैक्सीन के हर्ड इम्युनिटी डेवलप करना सही नहीं है। यह बेहद खतरनाक है। उन्होंने आगे कहा कि भारत में अब तक 10 लाख से ज्यादा मरीज कोरोना वायरस से ठीक हो चुके हैं। ये अपने आप में बड़ी कामयाबी है।

उन्होंने देश के स्वास्थ्यकर्मियों की तारीफ करते हुए कहा- ये दिखाता है कि हमारे डॉक्टर, नर्स और फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स ने बहुत मेहनत और लगन से काम किया है। राजेश भूषण ने कहा कि मरीजों के ठीक होने की दर यानी रिकवरी रेट बढ़ रही है। अप्रैल में यह 7.85 फीसदी थी, जो आज बढ़ कर  64.4  फीसदी हो गई है। उन्होंने कहा- हमने अपने टेस्टिंग के इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया है। देश में एक करोड़ 81 लाख 90 हजार टेस्ट किए जा चुके हैं। हमने देशभर में 14 सौ लैब्स बनाई हैं। उन्होंने बताया कि बुधवार को चार लाख 46 हजार टेस्ट हुए जबकि 25, 26 और 27 जुलाई को पांच लाख से ज्यादा टेस्ट किए किए गए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मप्र में स्थानों के नाम बदलने की चर्चाओं से गर्मायी सियासत