दस दिन में दोगुने हो रहे हैं मामले

नई दिल्ली। पिछले एक हफ्ते से कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलने की वजह से संक्रमण के मामलों के दोगुना होने की रफ्तार बढ़ गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि अब दस दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं। एक हफ्ते पहले 12 दिन में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही थी। हालांकि साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि मरीजों के ठीक होने की दर में सुधार हुआ है। मरीजों के ठीक होने की दर यानी रिकवरी रेट 29.36 फीसदी हो गई है।

शुक्रवार को हुई कई मंत्रालयों की साझा प्रेस कांफ्रेंस में गृह मंत्रालय ने बताया कि अब तक 222 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से ढाई लाख लोगों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाया गया है। इसी प्रेस ब्रीफिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश के 42 जिलों में पिछले 28 दिन में कोई केस नहीं आया है। 29 जिलों में पिछले 21 दिन से, 36 जिलों में 14 दिन से और 46 जिलों में पिछले सात दिन से कोई केस नहीं आया है। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि रिकवरी रेट 29.36 फीसदी हो गई है यानी हर तीन में एक व्यक्ति सही हो चुका है। इसमें लगातार सुधार हो रहा है।

लव अग्रवाल ने बताया कि भारतीय रेलवे ने 5231 कोच को कोविड केयर सेंटर के रूप में तैयार किया है। 215 रेलवे स्टेशन पर ये मौजूद होंगे। 85 स्टेशनों पर हेल्थ केयर स्टाफ रेलवे की ओर से दिया जाएगा। इसके लिए रेलवे ने ढाई हजार डॉक्टर और 35 हजार स्टाफ तय किया है। उन्होंने बताया कि आयुष संजीवनी एप्लीकेशन को लांच किया गया है और आयुर्वेद के इस्तेमाल पर स्टडी की जाएगी। 21 अस्पतालों  को इसके क्लीनिकल ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी गई है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्था, एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया के गुरुवार के बयान पर संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा है कि जून-जुलाई में संक्रमण के पीक से बचा जा सकता है, अगर अभी से ऐहतियात बरती जाए। गौरतलब है कि गुलेरिया ने कहा था कि भारत में संक्रमण का चरम जून-जुलाई में आएगा। इस पर अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा- अगर हम ऐहतियात बरतें तो हो सकता है कि उस चरम जा ही न पाएं। इसके लिए सभी को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने यह भी बताया कि इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल रिसर्च, आईसीएमआर की ओर से कई रैपिड टेस्टिंग किट की जांच की गई है। ये भारत में बनी हैं और  जल्दी ही इनके प्रयोग को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares