nayaindia विदेश से लौटे लोगों की निगरानी की चिंता - Naya India
समाचार मुख्य| नया इंडिया|

विदेश से लौटे लोगों की निगरानी की चिंता

नई दिल्ली। भारत में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बावजूद संक्रमितों की संख्या बढ़ने का सिलसिला जारी है। इसका एक कारण यह बताया जा रहा है कि विदेश से लौटे भारतीयों की निगरानी ठीक तरह से नहीं हो रही है। इसे लेकर केंद्र सरकार ने राज्यों से चिंता जताई है। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिख कर विदेश से भारत आए यात्रियों की निगरानी में अंतर को लेकर चिंता जताई है।

गौबा ने राज्य सरकारों से कहा कि 18 जनवरी से 23 मार्च के बीच 15 लाख से ज्यादा यात्री विदेश से भारत आए हैं, लेकिन उनकी निगरानी में अंतर है। कैबिनेट सचिव ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को कहा है कि पिछले दो महीनों में 15 लाख से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय यात्री भारत आए हैं लेकिन जितने यात्रियों को कोरोना वायरस को लेकर निगरानी में रखा गया है उनकी संख्या इस संख्या से मेल नहीं खाती है। गौबा ने कहा है कि निगरानी में यह फर्क कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को प्रभावित कर सकता है।

राजीव गौबा ने इस बात पर जोर दिया कि जिन अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को कोरोना को लेकर निगरानी में नहीं रखा गया है उनके बारे में पता लगाने के लिए उचित और आवश्यक कार्रवाई की जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को तुरंत उचित निगरानी में रखा जाए। यात्रियों का पता लगाने के लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को जिला अधिकारियों को भी कार्रवाई में शामिल करने के लिए कहा गया है। गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस से ज्यादातर संक्रमित विदेश यात्रा कर भारत आए हैं।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.

eight + 7 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पितृपक्ष के बाद निर्णयों की बारी
पितृपक्ष के बाद निर्णयों की बारी