महाराष्ट्र, गुजरात में आज तूफान का खतरा

मुंबई/अहमदाबाद। कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित दो राज्यों महाराष्ट्र और गुजरात पर चक्रवाती तूफान का बड़ा खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार को चक्रवाती तूफान निसर्ग दक्षिणी गुजरात और उत्तर महाराष्ट्र के तट पर पहुंचेगा। इसे देखते हुए मुंबई के अलावा महाराष्ट्र के तटीय इलाकों को अलर्ट पर रखा गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान की स्थिति का जायजा लिया है और जरूरी तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं।

मंगलवार की देर शाम तक यह तूफान मुंबई से करीब पांच सौ किलोमीटर दूर था। यह गोवा की राजधानी पणजी से 280 किलोमीटर और गुजरात के सूरत से 710 किलोमीटर दूर था। चक्रवाती तूफान निसर्ग बुधवार को मुंबई से 94 किलोमीटर दूर अलीबाग के तट से टकराएगा। गौरतलब है कि दो हफ्ते पहले ही 20 मई को बंगाल की खाड़ी में आए अम्फान चक्रवात से ओड़िशा और पश्चिम बंगाल में बड़ी तबाही हुई थी।

मुंबई में आमतौर पर इस तरह के चक्रवाती तूफान नहीं आते। 1882 के एक तूफान का जिक्र जरूर होता है। लेकिन, ये टकराया था या नहीं, इस पर विवाद है। बहरहाल, अरब सागर में उठा चक्रवात मंगलवार को ज्यादा ताकतवर होकर अलीबाग की तरफ बढ़ रहा है। अलीबाग मुंबई से 94 किलोमीटर दूर है। यह बुधवार तीन जून को अलीबाग के तट से टकराएगा। इसके असर से तेज बारिश हो सकती है और तेज हवाएं चलेंगी।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- बिजली की समस्या न हो इसके लिए जरूरी उपाय किए जा रहे हैं। पालघर और रायगढ़ स्थित केमिकल और परमाणु संयंत्रों की सुरक्षा के लिए सावधानियां बरती जा रही हैं। मौसम विभाग ने अरब सागर में बन रहे दबाव के क्षेत्र को लेकर चेतावनी जारी की। मौसम विभाग ने बताया कि यह तूफान अगले 12 घंटों में तूफानी चक्रवात और उसके अगले 12 घंटों में खतरनाक चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। यहीं वजह है कि मुंबई के आसपास के जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। एनडीआरएफ की दो टीमें पालघर, तीन मुंबई, एक ठाणे, दो टीमें रायगढ़ और एक रत्नागिरी में तैनात की गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares