दिल्ली के अस्पतालों को देनी होगी जानकारी

नई दिल्ली । दिल्ली के अस्पतालों को अब कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज से जुड़ी सारी जानकारी अब सार्वजनिक रूप से देनी होगी। दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल ने इस बारे में बुधवार को निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों को एलईडी स्क्रीन पर बड़े अक्षरों में लिख कर यह बताना होगा कि उनके यहां बेड्स की संख्या कितनी है और एक  कमरे का शुल्क कितना है। गौरतलब है कि दिल्ली के अस्पताल में सिर्फ दिल्लीवासियों के इलाज का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का फैसला पलटने के बाद एलजी अनिल बैजल ने खुद कमान संभाली है।

उन्होंने कहा कि बेड्स की संख्या और रूम का चार्ज बताने से जनता को सहूलियत होगी और अस्पतालों में पारदर्शिता भी आएगी। उप राज्यपाल ने कहा कि सभी बड़े अस्पतालों, क्लीनिक, नर्सिंग होम में घुसते ही ये सभी जानकारियां मिलनी चाहिए और भर्ती होने के लिए किस व्यक्ति से संपर्क करना है, यह भी बताया जाना चाहिए। बैजल ने दिल्ली के मुख्‍य सचिव को निर्देश जारी इस आदेश पर अमल करने को कहा।

अनिल बैजल ने मुख्य सचिव से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि दिल्ली के सभी अस्पताल, क्‍लीनिक, नर्सिंग होम आदि मेन एंट्री पर एलईडी बोर्ड पर कोरोना और गैर कोरोना बेड की उपलब्धता की जानकारी दें। इसके साथ ही बेड और रूम के रेट और इस संबध में संपर्क करने के लिए संबंधित विभाग या व्यक्ति का फोन नंबर भी बोर्ड पर साझा करें। इन्हें लगातार अपडेट करते रहने के लिए भी कहा गया है। यह भी कहा गया है कि इस बारे में सारे आंकड़े ऐप पर या पोर्टल पर लगातार अपडेट होते रहें। एलजी ने यह भी कहा है कि दिल्ली के राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से नियुक्त अधिकारी समय-समय पर अस्पतालों के औचक निरीक्षण करें और पता करें कि बोर्ड पर बेड की सही जानकारी दी जा रही है या नहीं, जिससे जरूरतमंदों को समय पर बेड मिल सके या कोई दूसरी दिक्कत न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares